बवासीर का रामबाण आयुर्वेदिक इलाज, bavasir ka gharelu ilaaj special

बवासीर का रामबाण आयुर्वेदिक इलाज, bavasir ka gharelu ilaaj special

बवासीर के इलाज के लिए घरेलू नुस्खे (bavasir ka gharelu ilaaj) :  इस लेख में आप पुरानी बवासीर का रामबाण इलाज (Bawaseer Ka ilaj) के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे| आज के समय में बवासीर की समस्या से ग्रसित लोगो की संख्या काफी हो गई है, यह कोई गंभीर समस्या तो नहीं है लेकिन इसमें दर्द बहुत ज्यादा होता है| बवासीर में मलद्वार मे जलन, दर्द, खुजली इत्यादि परेशानी हो सकती है, इसीलिए इंसान बवासीर की परेशानी दूर करने के लिए कई प्रकार की दवाइयो का सेवन करता है, जिससे इंसान को दर्द में तो राहत मिल जाती है लेकिन बिमारी समाप्त नहीं होती है| चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलु नुस्खों के बारे में बताते है, जिनके इस्तेमाल से आप बवासीर में होने वाले दर्द के साथ साथ बवासीर की परेशानी को भी खत्म कर सकते है –

bavasir ka gharelu ilaaj

Table of Contents

बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय, पाइल्स का इलाज हिंदी, बवासीर का इलाज, खुनी बवासीर का रामबाण इलाज

1 – नीम से बवासीर का इलाज – neem se bavasir ka gharelu ilaaj

नीम के बारे में हम सभी भलीभांति जानते है, नीम हमारे शरीर की बहुत सारी बीमारियो को दूर करने में सहायक होता है| नीम बवासीर की बीमारी को दूर करने में भी सहायक होता है, नीम के पत्ते, बीज इत्यादि से बवासीर की परेशानी को कैसे दूर कर सकते है आइए जानते है –

a – नीम की निम्बोली से बवासीर का इलाज (bavasir ka gharelu ilaaj) :

नीम के पेड़ पर आने वाले फल को हम निम्बोली के नाम से जानते है| जब नीम के पके हुए फल अर्थात पकी हुई निम्बोली को लेकर अच्छी तरह से धोकर उन्हें छाया में सुखा लें, फिर सुखी हुई निम्बोली को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, रोजाना सुबह लगभग 5 ग्राम चूर्ण को ताजे जल के साथ खाने से बवासीर की परेशानी जल्द ही ठीक हो जाती है|

b – नीम के तेल से बवासीर का इलाज – बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय

संभव है, इसके लिए आपको सबसे पहले लगभग 50 मिलीलीटर नीम का तेल लेना है, फिर लगभग 3 ग्राम कच्ची फिटकरी और 3 ग्राम चौकिया सुहागा लेकर दोनों को बारीक पीस कर नीम के तेल में अच्छी तरह से मिला लें, बस तेल तैयार है| शौच करने के बाद उंगली की मदद से तेल गुदा के बाहर और भीतर लगा लें, कुछ ही दिनों में बवासीर के मस्से समाप्त हो जाएंगे|

c – नीम की पत्ती या पत्ते से बवासीर का इलाज (bavasir ka gharelu ilaaj)

अब हम आपको नीम की पत्ती या पत्ते से बवासीर का इलाज कैसे करते है इसके बारे में बताते है| सबसे पहले थोड़ी सी मूंग की दाल कुछ घंटे पहले भिगो दें, जब दाल फूल जाएं, तब उस दाल में  नीम के पेड़ की 21 पत्तियों और भीगी हुई मूंग की दाल को एक साथ पीस लें, उसके बाद उसे बिना नमक डालें घी में भून कर खा लें, ऐसा 21 दिन तक करने से आपको बवासीर से राहत मिल सकती है, ध्यान रखे की आपको नमक का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना है|

2 – बवासीर में केले के फायदे या केला से बवासीर का इलाज (Banana se bavasir ka gharelu ilaaj) –

आज के समय में कब्ज की परेशानी बहुत आम हो गई, ऐसे में में केले का सेवन करने से आप अपनी कब्ज की परेशानी से राहत प्राप्त कर सकते है| केले का सेवन करने से आपको काफी सारे लाभ प्राप्त हो सकते है| चलिए अब हम आपको बताते है की केले से आप बवासीर को कैसे समाप्त कर सकते है| सबसे पहले आपको एक पूर्ण रूप से पका हुआ केला लेना है और देसी कपूर या भीमसेनी कपूर (पूजा वाला या जलाने वाला कपूर नहीं लेना है) लेना है| अब सबसे पहले देसी कपूर को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, फिर केले को लेकर उसे बिना छीले चाक़ू की मदद से लम्बाई में थोड़ा गहराई तक काट लगा दें उसके बाद काट वाली जगह में थोड़ा सा कपूर का बारीक चूर्ण भर दें, चूर्ण भरने के बाद धागे की मदद से केले को अच्छी तरह से बांध दें और लगभग 1 घंटे के लिए रख दें, फिर धागा और केले का छिलका हटा कर केले को अच्छी तरह से चबाते हुए खाएं| इस नुस्खे को आप सुबह खाली पेट करें अर्थात सुबह खाली पेट केला खाने से कुछ ही दिनों में आपको बवासीर (bavasir ka gharelu ilaaj) की परेशानी से राहत प्राप्त होगी|   

3 – हल्दी से बवासीर का इलाज, हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी – bavasir ka gharelu ilaaj hai haldi

प्राचीन समय से हल्दी को आयर्वेदिक में औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है| हल्दी से बवासीर का इलाज भी किया जा सकता है, हल्दी में मौजूद एंटी इन्फ्लेमेट्री गुण सूजन को कम करने में सहायक होते है| हल्दी में मौजूद एंटी-सेप्टिक गुण कीटाणुओं को नष्ट करने में सहायक होते है तथा हल्दी घाव भरने में भी काफी मददगार साबित होती है। प्राचीन समय में हल्दी को बवासीर का रामबाण इलाज के रूप में जाना जाता था| चलिए अब हम आपको कुछ घरेलु नुस्खे बताते है जिनके इस्तेमाल से आप बवासीर से छुटकारा प्राप्त कर सकते है-

a – एलोवेरा के बारे में हम सभी जानते है, एक चम्मच पीसी हुई हल्दी और आधा चम्मच एलोवेरा जेल लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिला कर पेस्ट जैसा बना लें, रोजाना रात को सोने से पहले गुदा के अंदरूनी और बाहरी तरफ इस पेस्ट को लगा लें, जल्द ही बवासीर (bavasir ka gharelu ilaaj) की परेशानी से राहत मिल जाएगी|

b – देसी घी और हल्दी से बवासीर का इलाज (Desi Ghee Aur Haldi Se bavasir ka gharelu ilaaj) किया जाता है| इस नुस्खे के लिए सबसे पहले आपको 1 चम्मच देसी घी और आधा चम्मच हल्दी लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें| रोजाना रात को सोने से पहले इस पेस्ट गुदा के अन्दर और बाहर अच्छी तरह से लगा कर सो जाएं| जल्द ही आपको राहत मिल जाएगी।

c – एक मूली लेकर उसे अच्छी तरह से धोकर छील कर काट लें, फिर इसमें पीसी हुई हल्दी छिड़क कर सेवन कर लें, दिन में दो से तीन बार इस नुस्खे को करने से आपको जल्द राहत प्राप्त हो जाएगी|

4 – पेशाब से बवासीर का इलाज – bavasir ka gharelu ilaaj hai urine

आपको पढ़ने और सुनने में थोड़ा अजीब लगेगा लेकिन यह सच है, कुछ लोगो का मानना है की पेशाब से भी बवासीर का इलाज (bavasir ka gharelu ilaaj) संभव है| इसके लिए आपको रोजाना सुबह सबसे पहले किए जाने वाले पेशाब को किसी कांच की शीशी में कर लें (पेशाब अधिक मात्रा में होना चाहिए, इसके लिए आप सुबह उठ क्र पानी पी लें)| फिर जब आप मल त्यागने जाएं तो गुदा को पानी से धोने की बजाएं पहले से एकत्रित पेशाब से धोएं, पानी का इस्तेमाल नहीं करना है, अगर आपको अजीब लगता है तो दो घंटे बाद पानी से धो सकते है, लेकिन बेहतर होगा की आप पानी से ना धोएं| नियमित रूप से ऐसा करने से कुछ ही दिनों में बवासीर से छुटकारा प्राप्त हो जाता है|    

5 –  फिटकरी से बवासीर का इलाज (bavasir ka gharelu ilaaj)    –

फिटकरी आपको लगभग हर घर में आसानी से मिल जाती है, लेकिन कम लोग जानते है की फिटकरी से बवासीर का इलाज भी संभव है| अगर आप मस्सो की समस्या का सामना कर रहे है तो फिटकरी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है, इसके लिए सबसे पहले आपको थोड़ी सी फिटकरी लेकर उसे बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, फिर थोड़ा सा खीरे का रस और थोड़ी हल्दी मिला लेकर तीनो चीजों को अच्छी तरह से मिला लें, रोजाना सुबह और शाम को बवासीर पर लगाने से कुछ ही दिनों मे बवासीर की परेशानी से आराम मिल जाता है| फिटकरी के दूसरे नुस्खे में फिटकरी के चूर्ण में थोड़ा सा चूर्ण और थोड़ा सा मक्खन लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर मस्सों पर लगाने से बहुत जल्दी लाभ प्राप्त होता है।

6 – कपूर से बवासीर का इलाज या बवासीर में कपूर के फायदे – bavasir ka gharelu ilaaj

अगर आप बवासीर की परेशानी से ग्रसित है और गुदा मार्ग में काफी ज्यादा दर्द हो रहा है तो कपूर आपके लिए फायदेमंद हो सकता है| थोड़ा सा कपूर और थोड़ा सा नारियल का तेल लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिला लें, जब दोनों अच्छी तरह मिल जाएं तब बवासीर वाली जगह पर लगा लें, दिन में 3 से 4 बार लगाने से सूजन में भी कमी आने के साथ साथ मल त्यागते समय होने वाली जलन और दर्द में भी आराम प्राप्त होता है।

7 – एलोवेरा से बवासीर का इलाज – bavasir ka gharelu ilaaj

बवासीर की समस्या में एलोवेरा भी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है| एलोवेरा के पत्ते को फ्रिज में कुछ देर के लिए रख कर ठंडा कर लें, उसके बाद पत्तो को छीलकर उसका गुद्दा निकालकर कर बवासीर पर लगाएं, नियमित रूप से ऐसा करने से आपको कुछ ही दिनों में राहत मिल जाएगी|        

8 – मिट्टी के तेल से बवासीर का इलाज – bavasir ka gharelu ilaaj

मिट्टी के तेल का इस्तेमाल करके भी आप बवासीर की परेशानी से निजात पा सकते है| इस नुस्खे में साबसे पहले आप एक मग पानी में लगभग दो चम्मच मिट्टी का तेल डालकर अच्छी तरह से मिला लें, फिर फ्रेश होने के बाद उस मिश्रित पानी से बवासीर वाली जगह को अच्छी तरह से धो लें, नियमित रूप से ऐसा करने से आपको जल्द लाभ मिलेगा|   

9 – धागे से बवासीर का इलाज –  bavasir ka gharelu ilaaj

प्राचीन समय से मस्से को धागे के द्वारा काटने की विधि चली आ रही है| लेकिन इस विधि को करना हर किसी के बस की बात नहीं है, इसीलिए इस विधि को किसी पुराने और बेहतरीन चिकित्सक के द्वारा ही करवाना चाहिए|

10 – दूध और नींबू से बवासीर का इलाज – bavasir ka gharelu ilaaj

इस नुस्खे से आपको पुरानी से पुरानी बवासीर या भगन्दर से राहत मिल सकती है| सबसे पहले आप 1 गिलास ठंडा दूध लें (दूध फ्रिज में ठंडा किया हुआ नहीं लेना, बाहर रखा हुआ ठंडा दूध लेना है) फिर उसमे एक नींबू का पूरा रस मिला लें, अब दूध के फटने से पहले पीले अर्थात नींबू का रस मिलाते ही पी लें।      

11 – बवासीर में लहसुन के फायदे या लहसुन से बवासीर का इलाज –  bavasir ka gharelu ilaaj

लहसुन बवासीर में होने वाले दर्द के उपचार में मददगार साबित होता है| एक गिलास पानी में थोड़ा सा लहसुन डालकर अच्छी तरह से उबाल कर ठंडा होने दें, इस पानी का सेवन करने से आपको कब्ज और दर्द से राहत मिलेगी।

12 – बवासीर में गर्म पानी पीने के फायदे (bavasir ka gharelu ilaaj) –

गर्म पानी हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता है, सुबह उठते ही अगर आप गर्म पानी पीते है तो इससे पेट की सफाई के साथ साथ मल त्यागने में दर्द नहीं होता है, इसीलिए बवासीर में गर्म पानी काफी फायदेमंद होता है|   

13 – बवासीर में किशमिश के फायदे या किशमिश से बवासीर का इलाज (bavasir ka gharelu ilaaj) –

रात को लगभग 100 ग्राम किशमिश को ताजे पानी में डालकर रात भर के लिए भीगा रहने दें, सुबह उठ कर उस पानी और उसमे मौजूद किशमिश को अच्छी तरह से मसलकर पानी में मिला लें, फिर उस मिश्रण का सेवन कर लें, नियमित रूप से ऐसा करने से जल्द ही आपको बवासीर की परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा|

14 – नींबू से बवासीर का इलाज (nimbu hai bavasir ka gharelu ilaaj)-

सबसे पहले एक चम्मच नींबू का रस लें, फिर थोड़ा सा अदरक का रस और शहद लेकर तीनो को अच्छी तरह से मिलाकर सेवन करने से पाइल्स में लाभ पहुँचता है।

piles treatment at home in hindi, piles treatment in hindi, bavasir ka gharelu ilaaj, bavasir ka gharelu upchar, bavasir ka desi ilaaj, badi bawaseer ka ilaj, पाइल्स का घरेलू उपचार

उम्मीद है की आपको हमारा लेख bavasir ka gharelu ilaaj पसंद आया होगा| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की कभी भी बवासीर की परेशानी में लापरवाही नहीं करनी चाहिए| कुछ लोग बवासीर की परेशानी गंभीर रूप लेने के बाद भी घरेलू उपचार करते रहते है,जिसकी वजह से उन्हें कई बार घातक परिणाम भुगतने पढ़ जाते है| घरेलू उपाए किसी वैध की सलाह के बाद अपनाए जाएं तो बेहतर परिणाम देते है| अगर आपको ऊपर दिए गए नुस्खे पसंद नहीं आए है तो आप गूगल या बिंग पर जाकर bavasir ka ilaaj के और भी नुस्खे प्राप्त कर सकते है|

बवासीर के मस्से झड़ने के उपाय, खूनी बवासीर का इलाज, बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय

बवासीर का अचूक इलाज, भगंदर को जड़ से खत्म करने का उपाय

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!