फैटी लिवर का इलाज, लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

फैटी लिवर का इलाज, लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

फैटी लिवर का इलाज : इंसान के शरीर का एक प्रमुख अंग है लिवर, लिवर शरीर में भोजन को पचाने से लेकर पित्त बनाने तक के सभी काम करता है। शरीर में मौजूद विषैले पदार्थो को निकालने, फैट को कम करने, प्रोटीन बनाने में, संक्रमण से लड़ने, ब्लड शुगर को संतुलित रखने का काम लिवर ही करता है। ऐसे इंसान जो बहुत अधिक मात्रा में खाना खाने, ज्यादा शराब पीने और फैट युक्त भोजन अधिक करते है उनमे फैटी लिवर का रोग होने की संभावना बहुत ज्यादा रहती है।

आप चाहे तो घर पर ही फैटी लिवर का इलाज (Fatty Liver Treatment in hindi) बहुत ही आसानी से कर सकते हैं। आज के समय कुछ लोग मानते हैं फैटी लीवर की परेशानी उन इंसानो को ज्यादा होती है जो शराब या अन्य मादक चीजों का सेवन ज्यादा करते है और घर पर या घरेलू नुस्खों से फैटी लिवर का इलाज (fatty liver ka ilaj) नहीं हो सकता है। तो हम आपको बता दें की ऐसा कोई जरुरी नहीं है की शराब और अन्य मादक चीजों का सेवन करने वालो को ही फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|

लेकिन यह सच है की शराब और मादक पदार्थो का सेवन करने वालो में यह परेशानी ज्यादा देखने को मिलती है| कई बार खाने की अनुचित आदतों वाले इंसानो में फैटी लिवर की बीमारी देखी जा सकती है और आप चाहे तो फैटी लीवर का उपचार घर पर भी किया जा सकता हैं। आप घरेलू नुस्खे अपनाकर बिना किसी दवाई के आप घर पर ही फैटी लिवर का इलाज (fatty liver ka ayurvedic ilaj) कर सकते है|

फैटी लिवर का इलाज

Table of Contents

फैटी लिवर क्या है? (What is Fatty liver in hindi ?)

फैटी लिवर का नाम लगभग सभी जानते है लेकिन बहुत सारे लोग यह नहीं समझ पाते है की आखिर फैटी लिवर होता कया है? चलिए हम आपको बताते है आखिर फैटी लिवर कया होता है जब हमारे शरीर में मौजूद लिवर की कोशिकाओं में वसा या फैट अधिक मात्रा में जमा हो जाता है तो इस स्थिति को फैटी लिवर के नाम से जाना जाता है|

आमतौर पर लीवर में थोड़ी सी वसा की मात्रा का होना सामान्य बात है, फैटी लिवर को आप इस तरह से भी समझ सकते है की जब हमारे लिवर के वजन का 10% वजन से ज्यादा वसा या फैट लिवर की कोशिकाओं पर जमा हो जाता है तो उसे फैटी लिवर कहा जाता है| लिवर फैटी हो जाने पर लीवर सामान्य रूप से कार्य नहीं कर पता है जिसकी वजह इंसान को कई सारी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है, ऐसी स्थिति में इंसान को फैटी लिवर का इलाज (fatty liver ka ayurvedic ilaj) कराना जरुरी होता है|

आमतौर पर देखा गया है की फैटी लिवर के लक्षण (fatty liver ke lakshan) जल्दी से देखने को नहीं मिलते है, फैटी लिवर का असर काफी देर से दिखाई देता है| लेकिन अगर आप फैटी लिवर का इलाज नहीं करवाते है तो यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। आम तौर पर आप देखेंगे तो फैटी लिवर की परेशानी 40 से 60 वर्ष की आयु में ज्यादा देखने को मिलती है, अगर हम आयुर्वेद की बात करें तो आयुर्वेद में फैटी लीवर (fatty liver in hindi) का ताल्लुक पित्त से बताया जाता है अर्थात पित्त के दूषित या ख़राब होने पर लीवर के रोग होने की प्रबल संभावना होती है|

ऐसे इंसान जिनका खान पान अनुचित होता है उनके लीवर में विषाक्त तत्व ज्यादा मात्रा में जमा होने लगते है जिसकी वजह से लीवर को ज्यादा कार्य करना पड़ता है। अधिक कार्य करने की वजह से लीवर में सूजन भी आ जाती है जिसकी वजह से इंसान को फैटी लीवर का उपचार भी कराने की जरूरत पड़ जाती है। अधिकतर इंसान सिर्फ यह जानते है की फैटी लिवर होता है लेकिन बहुत कम लोग इसके प्रकार जानते है, जानिए फैटी लिवर के प्रकार-

फैटी लीवर दो प्रकार के होते हैं-

  1.  एल्कोहलिक फैटी लीवर (Alcoholic Fatty Liver in hindi) – ऐसे इंसान जो शराब का सेवन बहुत ज्यादा करते है, ऐसे लोगो में एल्कोहलिक फैटी लीवर की परेशानी होती है, शराब में मौजूद एल्कोहॉल की वजह से लीवर पर फैट जमा होने लगता है और अधिक मात्रा में शराब पीने से लीवर में कई बार सूजन और फिर लीवर क्षतिग्रस्त भी हो सकता है।
  2.  नॉन एल्कोहलिक फैटी लीवर (Non-Alcoholic Fatty liver in hindi) – ऐसे इंसान जो शराब का सेवन नहीं करते है लेकिन बहुत ज्यादा वसा वाला भोजन एवं असंतुलित जीवनशैली की वजह से इंसान में मोटापे और डायबिटीज की परेशानी हो जाती है जिसकी वजह से भी फैटी लीवर की परेशानी हो जाती है। इस प्रकार के फैटी लिवर को नॉन एल्कोहलिक फैटी लीवर कहा जाता है|

फैटी लिवर होने के कारण (Causes of Fatty liver in Hindi)

किसी भी इंसान को फैटी लिवर का इलाज (fatty liver ka ilaj) कराने से पहले यह जानना भी जरुरी है की आखिर फैटी लिवर किन कारणों से होता है| अगर आपको फैटी लिवर के कारणों का पता होता है तो आप अपने आपको या अपने परिवार के किसी भी सदस्य को इस परेशानी से बचा सकते है| चलिए अब हम आपको फैटी लीवर होने के आम कारणों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है –

  •  फैटी लिवर का एक प्रमुख कारण है अत्यधिक शराब का सेवन
  •  आनुवांशिकता की वजह से फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|
  •  मोटापा, मधुमेह के कारण भी फैटी लिवर की बीमारी हो जाती है|
  •  अधिक वसा या फैट वाला भोजन और अधिक मसालेदार भोजन का सेवन करने से भी फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|
  •  ऐसे इंसान जो स्टेरॉयड, एस्पिरीन या ट्रेटासिलीन इत्यादि दवाइयों का सेवन ज्यादा और लम्बे समय तक करते है|
  •  अगर पीने वाले पानी में क्लोरीन की मात्रा अत्यधिक होती है तो भी आपको फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है

फैटी लिवर के लक्षण (Fatty Liver Symptoms in Hindi)

किसी भी इंसान को फैटी लिवर का इलाज कराना है और उसे फैटी लिवर की जानकारी शुरुआत में ही मिल जाएं तो इलाज आसान हो जाता है| किसी भी बीमारी का पता अगर शुरुआत में ही चल जाएं तो उस बिमारी का इलाज जल्दी और आसानी से किया जा सकता है, लेकिन अगर देर से पता चलता है तो कई बार इलाज में बहुत ज्यादा समय या अन्य परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है|

ऊपर हमने आपको फैटी लिवर कया होता है, फैटी लिवर किन कारणों से हो सकता है इत्यादि की जानकारी उपलब्ध कराई है अब हम आपको फैटी लिवर के लक्षणों (fatty liver ke lakshan) के बारे में बताने जा रहे है, अगर आपको इनमे से कोई सा भी लक्षण दिखाई दें तो लापरवाही ना करें तुरंत अपना चेक उप और उपचार करें| फैटी लिवर के आम लक्षण निम्न प्रकार है –

  •  अगर आपके पेट के दाएँ भाग के ऊपरी हिस्से में दर्द की परेशानी है और दर्द नियमित रूप से हो रहा हो|
  •  किसी भी इंसान के अचानक से वजन में गिरावट आने लगी हो तो भी फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|
  •  अगर आपको बिना किसी कारण कमजोरी महसूस होना
  •  अगर आपकी आँखों और त्वचा में पीलापन दिखाई दे रहा है तो भी आपको चेक कराना चाहिए क्योंकि फैटी लिवर का एक लक्षण आँखों और त्वचा में पीलापन भी है|
  •  किसी भी इंसान को अगर भोजन सही प्रकार से हजम नहीं हो रहा है और भोजन हजम ना होने की वजह से गैस या एसिडिटी की परेशानी का होना भी फैटी लिवर के लक्षण में शामिल है|

बच्चों में फैटी लिवर की समस्या

आमतौर पर बच्चों में फैटी लीवर की परेशानी काफी कम ही देखने को मिलती है| लेकिन कई बार कुछ बच्चो में फैटी लिवर की समस्या देखने को मिल जाती है| ऐसे बच्चे जो जंक फूड, चॉकलेट, चिप्स इत्यादि का सेवन अधिक मात्रा में करते है और शारीरिक गतिविधि काफी कम करने की वजह से बच्चो में फैटी लिवर की समस्या हो सकती है|

इसीलिए सबसे पहले आपको अपने बच्चे के खान पीन का ख्याल रखना चाहिए, खान पीन का ख्याल रखने से आप अपने बच्चे को फैटी लिवर की परेशानी से बचा सकते है| लेकिन फिर भी किसी कारणवश बच्चे में फैटी लिवर की परेशानी आ गई है तो फैटी लिवर का इलाज घरेलू नुस्खों से भी कर सकते है, चलिए अब हम आपको बच्चो में फैटी लिवर के लक्षणों के बारे में बताते है –

बच्चों में फैटी लिवर के लक्षण (Fatty Liver Symptoms in Hindi)

  •  अगर आपके बच्चे को बिना किसी कारण के थकावट महसूस हो रही हो
  •  पेट दर्द की परेशानी होना
  •  बच्चे के खून में लीवर एन्जाइम्स का स्तर बढ़ा हुआ आना

बच्चों में फैटी लिवर की परेशानी ना होने के लिए अपनाएं निम्न उपाय

  •  अगर आप अपने बच्चे को फैटी लिवर की परेशानी से बचाना चाहते है तो अपने बच्चे को मीठा कम से कम देने की कोशिश करें।
  •  बच्चो को हमेशा ताजे फल ही खिलाएं और घर में ताज़ी सब्जी ही बनाएं |
  •  हमेशा अपने बच्चो की शारीरिक गतिविधियों को बढ़ाने की कोशिश करें और उनके हिसाब से नियमित व्यायाम भी जरूर कराएं|

फैटी लिवर से बचने के उपाय (How to Prevent Fatty liver in Hindi)

आयुर्वेद में फैटी लिवर का उपचार औषधियों के साथ साथ उचित आहार और उचित जीवनशैली के द्वारा किया जाता है| किसी भी रोग में अगर आप अपने भोजन और जीवनशैली को सही नहीं करते है तो इलाज होना काफी मुश्किल होता है|

अगर आप फैटी लिवर का इलाज आयुर्वेद से करते है तो आपकी समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है लेकिन एलौपैथिक दवाई का सेवन करने से आपकी बिमारी कुछ समय के लिए कम हो सकती है लेकिन बीमारी का जड़ से समाप्त होने की संभावना काफी कम रहती है| फैटी लिवर का इलाज के दौरान आपको कया खाना चाहिए या कया नहीं खाना चाहिए यह बहुत ज्यादा जरुरी है|

फैटी लिवर के इलाज में कया खाएं

अगर आपका फैटी लिवर का इलाज चल रहा है तो आपको अपने खाने पीने का खासतौर पर ख्याल रखना चाहिए, चलिए हम आपको बताते है के आपका कया खाना चाहिए –

  •  हमेशा कोशिश करें की ताजे फल एवं सब्जियों का ही सेवन करें,बासी और रखें हुए फल और सब्जियों का सेवन करने से बचें|
  •  ऐसे खाद्य पदार्थो (जैसे – बीन्स और साबुत अनाज) का सेवन करें जिनमे फाइबर प्रचुर मात्रा में मौजूद हो ।
  •  लहसुन लिवर में वसा या फैट जमने से रोकने में सहायक होता है, इसीलिए लहसुन को भोजन में इस्तेमाल करें|
  •  ग्रीन टी के अनेको फायदे है, नियमित रूप से ग्रीन टी का सेवन करने से लीवर में जमा फैट धीरे धीरे कम होने लगता है|
  •  पालक,ब्रोक्ली, करेला, लौकी, टिण्डा, तोरी, गाजर, चुकंदर इत्यादि का सेवन करें|
  •  हरे छिलके वाली मूंग की दाल और मसूर दाल का सेवन करना लाभप्रद रहता है|
  •  नियमित रूप से योग, एक्सरसाइज़ और सुबह टहलने जरूर जाएँ।

फैटी लिवर के इलाज में कया नहीं खाएं

अगर आपका फैटी लिवर का इलाज चल रहा है या आप फैटी लिवर की परेशानी से पीड़ित है तो आपको निम्न बातो का ख्याल रखना चाहिए| फैटी लिवर में किन चीजों का परहेज करना चाहिए इसकी जानकारी नीचे आपको दी जा रही है

  • फैटी लिवर की परेशानी में राजमा, सफेद चना, काली दाल का परहेज करना चाहिए |
  •  मक्खन, मेयोनीज, चिप्स, केक, पिज्जा, मिठाई इत्यादि चीजों का सेवन भूलकर भी ना करे वरना आपकी परेशानी कम होने की बजाय बड़ सकती है|
  •  अगर आप फैटी लिवर की परेशानी का सामना कर रहे है तो तला भुना और जंक फूड बिलकुल भी ना खाएं|
  •  अधिक नमक, रिफाइन्ड और सफेद चीनी का इस्तेमाल ना करें तो बेहतर है और अगर इस्तेमाल करना ही हो तो कम से कम मात्रा का उपयोग करें|
  •  शराब या किसी भी प्रकार के मादक पदार्थो का सेवन बिल्कुल भी ना करें।

फैटी लिवर का उपचार करने के लिए घरेलू नुस्खे और इलाज (Home remedies For Fatty liver Treatment in hindi )

अगर आप फैटी लिवर की परेशानी का सामना कर रहे है और फैटी लिवर की परेशानी का हल आप आयुर्वेद के घरेलू नुस्ख़े (fatty liver home remedy in hindi) के द्वारा करना चाह रहे है तो यह लेख आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| घरेलू नुस्खों से आप फैटी लिवर की परेशानी के साथ साथ लिवर की सूजन (liver ki sujan) को भी आसानी से कम कर सकते है | चलिए अब हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आप आसानी फैटी लिवर का इलाज कर सकते है –

सूखा आंवला है फैटी लिवर का इलाज 

अगर आप फैटी लिवर का इलाज घरेलू नुस्खे अपनाकर करना चाहते है तो आवंला आपके लिए बेहतर विकल्प है| आंवले में मौजूद विटामिन सी और अन्य पोषक तत्व लिवर की कोशिकाओं पर जमा अतिरिक्त फेट को कम करके उसे बेहतर बनता है| रोजाना 3 से 4 कच्चे आवंले खाने से जल्द राहत मिलती है लेकिन अगर कच्चे आवंले ना मिल सके तो आप सूखा आवंला भी इस्तेमाल कर सकते है | सबसे पहले आप थोड़े से सूखे आवंले लेकर उन्हें बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, नियमित रूप से दिन में 3 बार लगभग 4 ग्राम सूखे आँवले का चूर्ण ताजे पानी के साथ लेने से जल्द ही आपको आराम मिलेगा|

फैटी लिवर का उपचार है छाछ

फैटी लिवर का इलाज (fatty liver ayurvedic treatment hindi) है छाछ, अगर आप नियमित रूप से दोपहर के भोजन के साथ छाछ का सेवन करते है तो आपको कुछ ही दिनों में राहत प्राप्त हो जाती है| छाछ को पीने से पहले उसमे हींग, नमक, जीरा और काली मिर्च पॉउडर मिला लें, इन चीजों के मिलाने से छाछ की तासीर बदलने के साथ साथ छाछ और भी ज्यादा लाभदायक भी बन जाता है|

ग्रीन टी है फैटी लिवर का इलाज

ग्रीन टी मौजूद एन्टीऑक्सिडेंट्स और अन्य पोषक तत्व फैटी लिवर की परेशानी को दूर करने में सहायक होते है| ग्रीन टी की मदद से आप फैटी लिवर का इलाज घर पर ही कर सकते है, नियमित रूप से ग्रीन टी का सेवन करने कुछ ही दिनों में आपका फैटी लिवर सही हो जाता है और लीवर सही तरीके से कार्य करने लगता है|

विटामिन सी से करें फैटी लिवर का इलाज

विटामीन सी फैटी लिवर की परेशानी को दूर करने में सहायक होता है, अगर आप नियमित रूप से ऐसी चीजों का सेवन करते है जिसमे विटामिन सी की मात्रा भरपूर मात्रा में होती है तो जल्द ही आपका लिवर सही हो जाता है| नियमित रूप से सुबह खाली पेट नींबू, संतरा और मौसमी इत्यादि का जूस पीने से आपको कुछ ही दिनों में फैटी लिवर की परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा|

फैटी लिवर का घरेलू उपचार है करेला

शायद ही कोई घर हो जिसमे करेले की सब्जी ना बनती हो लेकिन बहुत लोगो को पता होता है करेला फैटी लिवर का इलाज भी करता है| करेले में मौजूद गुण और अन्य पोषक तत्व लिवर की कोशिकाओं में जमा वसा या फैट को कम करने में सहायक होते है| अगर आप फैटी लिवर की समस्या से ग्रसित है तो नियमित रूप से करेले की सब्जी का सेवन करें या आप चाहे तो करेले का जूस भी पी सकते है, करेला आपके लिवर को स्वस्थ बनाने के साथ साथ अन्य कई परेशानियो को भी दूर करने में सहायक होता है|

फैटी लिवर का इलाज है सेब का सिरका

सेब के सिरके का नाम आपने कभी ना कभी जरूर सुना होगा, सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर) बहुत सारी परेशानियो या बीमारियो से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है| अगर आप फैटी लिवर का इलाज घर पर ही करना चाहते है तो सेब का सिरका आपके लिए फायदेमंद होता है| नियमित रूप से थोड़े सा सेब का सिरका का सेवन करने से कुछ ही दिनों में लीवर पर जमा फैट कम होने लगता है और लिवर स्वस्थ होने लगता है|

फैटी लिवर का उत्तम उपचार है जामुन 

जामुन के बारे में हम सब भली भांति जानते है स्वादिष्ट होने के साथ साथ शरीर की कई बीमारियो को दूर करने में सहायक होता है| जामुन में मौजूद गुण फैटी लिवर का इलाज करने में सहायक होते है| नियमित रूप से सुबह खली पेट 200 से 300 ग्राम पके हुए जामुन खाने से बहुत जल्द आपके लिवर पर जमा फैट कम होने के साथ साथ स्वस्थ भी होने लगता है|

टमाटर है फैटी लिवर का रामबाण इलाज

टमाटर का इस्तेमाल लगभग सभी घरो में किया जाता है, टमाटर सब्जी को स्वादिष्ट बनाने के साथ साथ उसे पौष्टिक भी बनता है| टमाटर में मौजूद गुण और विटामिन्स फैटी लिवर का इलाज करने में भी सहायक होते है| नियमित रूप से कच्चे टमाटर का सेवन करने से लिवर पर जमा फैट काम करने में मदद मिलती है और कुछ ही दिनों में आपको फैटी लिवर की समस्या से निजात मिल जाती है|

फैटी लिवर का इलाज है हल्दी

हल्दी लगभग सभी घरो में आसानी से मिल जाती है, हल्दी का इस्तेमाल मसाले के रूप में किया जाता है| लेकिन हल्दी को प्राचीन समय से एक औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है इसमें मौजूद गुण और पोषक तत्व शरीर की बहुत सारी बीमारियो और परेशानियो को दूर करने में सहायक होते है| हल्दी को दर्द निवारक के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन कया आपको पता है हल्दी फैटी लिवर का इलाज करने के सक्षम है| नियमितरूप से हल्दी का सेवन करने से कुछ ही दिनों में आप फैटी लिवर की परेशानी से छुटकारा पा सकते है|

नारियल का पानी है फैटी लिवर का इलाज

अगर आप फैटी लिवर की समस्या से ग्रसित है तो नारियल का पानी आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है| नारियल के पानी में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट और हेपेटो प्रोटेक्टिव फैटी लिवर की परेशानी को कम करने में सहायक होते है| नियमित रूप से नारियाल पीने से आपको बहुत जल्द लाभ प्राप्त होता है|

इस लेख में आपने फैटी लिवर कया है, फैटी लिवर होने के कारण, फैटी लिवर के लक्षणों और फैटी लिवर का इलाज के बारे में जाना| उम्मीद है की आपको हमारा लेख पसंद आया होगा,लेकिन हम आपको यहीं सलाह देंगे की अगर आपको या आपके परिवार के किसी भी सदस्य में फैटी लिवर के लक्षण दिखाई दें तो आपको लापरवाही नहीं करनी चाहिए|

आपको उसे तुरंत किसी अच्छे चिकित्सक के पास ले जाएं और उनसे परामर्श और इलाज कराएं, अगर आप लापरवाही करते है तो आपको घातक परिणाम भी भुगतने पड़ सकते है| फैटी लिवर का इलाज घरेलू नुस्खों के दवारा किया जा सकता है लेकिन घरेलू नुस्खों का बेहतर परिणाम उचित खुराक लेने से ही प्राप्त होता है, इसीलिए बेहतर परिणाम पाने के लिए किसी वैध या चिकित्सक की सलाह से ही देसी नुस्खें अपनाएं|

अगर आपको फैटी लिवर का इलाज पसंद नहीं आया है या आप और अधिक जानकारी चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर पढ़ सकते है|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!