Mon. Sep 26th, 2022

kyc full form in hindi : आज के समय में शायद ही कोई महिला या पुरुष हो जिसने केवाईसी का नाम सुना ना हो, लेकिन आज भी बहुत सारे पुरुष या महिला ऐसी है जिन्हे केवाईसी की फुल फॉर्म या KYC क्या है? इसके बारे में जानकारी नहीं होती है| अगर आपके मन में भी यह सवाल है की केवाईसी का अर्थ कया है? या KYC Full Form kya hai?  इत्यादि तो हमारा यह लेख आपके लिए बहुत ज्यादा लाभकारी साबित हो सकता है| आज हम अपने इस लेख में आपको केवाईसी (kyc full form in hindi) के बारे में अधिक से अधिक या सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करने की कोशिश कर रहे है|

जब कोई भी पुरुष या महिला बैंक में खाता खुलवाने या फिक्स डिपोजिट करने से लेकर अन्य कई कामो में आपको केवाईसी फॉर्म जमा करना बहुत ज्यादा जरुरी होता है अगर आप केवाईसी जमा नहीं करते है तो आपका काम नहीं होता है या उसे बीच में ही रोक दिया जाता है| आज का जमाना ऑनलाइन का जमाना है इसीलिए अधिकतर इंसान पैसे का लेन देन करने के लिए Online Payment system जैसे Paytm, Google Pay, Phonepe, Amazon Pay, Mobikwik इत्यादि का इस्तेमाल करता है, इन Online Payment system का इस्तेमाल करने के लिए भी आपको KYC भरना जरूरी होता है।

हालाँकि आज के समय में अधिकतर इंसानो का पता होता है की केवाईसी कया है या kyc ki full form in hindi कया होती है ? ऐसे में बहुत से इंसान इंटरनेट का सहारा लेते है, इंटरनेट पर केवाईसी कया है? केवाईसी का मतलब कया होता है? केवाईसी का अर्थ कया है? केवाईसी की फुल फॉर्म कया है? केवाईसी भरना क्यों जरुरी है? what is kyc full form in hindi, kyc full form in hindi, kyc ka full form kya hota hai, kyc ka full form kya hai, kyc ka full form hindi mai, kyc full form in banking इत्यादि लिखकर सर्च करता है| अब आप समझ गए होंगे की अगर आपको बैंक में खाता खुलवाना हो, क्रेडिट कार्ड लेना हो, ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए किसी सिस्टम (गूगल पे, फ़ोन पे, भीम इत्यादि) पर खाता खोलना हो, कोई फिक्स डिपाजिट करना है, बिमा करना है इत्यादि के लिए KYC Form भरना जरुरी है| अगर आप केवाईसी जमा नहीं करते है तो आप कोई भी काम नहीं कर सकते है, इसीलिए आज के समय में केवाईसी को सबसे महत्पूर्ण माना जाता है|

Table of Contents

KYC क्या है? – Meaning of KYC in Hindi |  केवाईसी कया होती है ?

चलिए KYC की फुल फॉर्म के बारे में जानकारी देने से पहले हम आपको यह बताते है की आखिर केवाईसी कया होता है| दरसल केवाईसी किसी भी ग्राहक की सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे इंसान का नाम, इंसान का पता, इंसान की जन्म तिथि के साथ साथ अन्य व्यक्तिगत जानकारी होती है| इसीलिए बैंक में खाते खुलवाने से लेकर म्यूचुअल फंड या फिक्स्ड डिपाजिट के लिए केवाईसी जमा करना जरुरी है, किसी भी काम को करने के लिए केवल आपको एक बार KYC जमा करवानी पड़ती है, लेकिन अगर आपका खाता किसी भी बैंक में है और किसी भी कारणवश खाता बंद हो गया है तो आपको खाते को खुलवाने के लिए केवाईसी (kyc full form in hindi) दोबारा जमा करनी पड़ती है|

केवाईसी कब शुरू हुई थी ? KYC kab se lagu hui thi – kyc full form in hindi

दरसल भारत सरकार ने वर्ष 2002 में केवाईसी की शुरुआत की थी लेकिन शुरुआत में यह सभी बेंको के लिए जरुरी नहीं थी| फिर RBI ने वर्ष 2005 के दिसम्बर महीने में यह घोषणा की की अब सभी बैंक ग्राहकों के लिए केवाईसी को भरना या जमा करना अनिवार्य है। केवाईसी जमा कराने की वजह यह थी की बैंक के ग्राहकों की सही जानकारी जैसे नाम, पता और पहचान पत्र जैसी महत्पूर्ण जानकारी बैंक के पास होइ चाहिए| KYC (Know your Customers) को जमा कराए से धोखा धड़ी से भी बचा जा सकता था क्योंकि केवाईसी जमा करते समय ग्राहक को अपने ओरिजिनल कागजात लगाने होते है|

KYC Full Form in Hindi – केवाईसी की फुल फॉर्म कया है ? – what is kyc full form in hindi

चलिए अब हम आपको केवाईसी का फुल फॉर्म क्या है? की जानकारी देते है, दरसल KYC ka Full Form hai – Know your customers कुछ इंसान या कुछ जगह पर KYC full form in English –  Know your Client भी होती है| अगर हम हिंदी की बात करें तो KYC Full Form in Hindi या केवाईसी का अर्थ होता है – अपने ग्राहकों को जानें| KYC को जमा करने का निर्देश रिजर्व बैंक ने जारी किया था यह किसी भी ग्राहक की Identity Verification Process होता है और केवाईसी को जमा करने के दो तरीके होते है पहला ऑनलाइन और दूसरा है ऑफलाइन| चलिए अब हम आपको केवाईसी जमा करने के दोनों तरीको के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

kyc full form in hindi – कस्टमर के बारे में पूरी जानकारी

kyc full form in english – Know Your Customer

kyc full form in bank – Know Your Client

kyc full form in bengali – আপনার গ্রাহককে জানুন

KYC को ऑनलाइन कैसे जमा करें ? केवाईसी को ऑनलाइन कैसे भरें (How to update KYC Details Online in Hindi)

ऊपर आपने पढ़ा की केवाईसी कया होती है और केवाईसी जमा करना क्यों जरुरी है, केवाईसी को आप ऑनलाइन भी जमा कर सकते है और ऑफलाइन भी जमा कर सकते है| चलिए सबसे पहले हम आपको ऑनलाइन KYC जमा करने का तरीका बता रहे है, हालाँकि पहले यह सुविधा नहीं थी पहले आपको KYC जमा करने के लिए बैंक में ही जाना पड़ता था या आप ऐसे समझ सकते है की पहले जहाँ केवाईसी की जरुरत होती थी वहां पर आपको हार्ड कॉपी जमा करनी पड़ती थी, लेकिन अब जमाना बदल गया है आप घर बैठे सारे काम कर सकते हो|

अगर आप ऑनलाइन KYC जमा करना है तो आज के समय में आधार कार्ड को सबसे ज्यादा माँगा या भरा जाता है, आधार कार्ड को सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स माना जाता है, आधार कार्ड को सबसे सुरक्षित डाक्यूमेंट्स भी माना गया है| आधार कार्ड में ग्राहक का नाम और पता होने के साथ साथ बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन भी होता है इसीलिए आप केवाईसी (kyc full form in hindi) में केवल आधार कार्ड जमा कर सकते है| आधार कार्ड से केवाईसी जमा करने के दो तरीके पहला ओटीपी और दूसरा बायोमेट्रिक होते है, चलिए हम आपको दोनों तरीको के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

अगर आप आधार कार्ड से KYC को ऑनलाइन जमा करना चाहते है तो सबसे पहला तरीका है मोबाइल से otp verification करना होता है| हालाँकि आप सभी OTP के बारे में भली भाँती जानते ही होंगे, KYC भरने करे लिए सबसे पहले आपको बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर लोग इन करना होगा, लोग इन के बाद आपको ऑनलाइन KYC जमा करने के लिंक पर क्लिक करना होगा| फिर आपके सामने एक पेज खुलेगा जिसमे आपको अपना नाम और आधार कार्ड नंबर डालना होता है, आधार कार्ड नंबर डालने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें, फिर आपके आधार कार्ड में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक OTP (One Time Password) आता है, OTP में आए नंबर को आधार कार्ड डालने के बाद जो पेज खुलेगा वह डालना पड़ेगा| OTP डालने के बाद आपकी KYC जमा हो जाती है इस प्रोसेस में कई बार एक दिन का समय भी लग सकता है| आधार से KYC जमा करने का दूसरा तरीका है Biometric, अगर आप दूसरे तरीके से KYC जमा करना चाहते है तो इसके लिए आप बैंक के CSC सेंटर जाकर जमा करवा सकते है| इसमें आपके Fingerprint लिए जाते है और उनका वेरिफिकेशन किया जाता है, जिससे आपकी KYC जमा हो जाती है| चलिए अब हम आपको ऑफलाइन केवाईसी (kyc full form in hindi) कैसे जमा की जाती है इसके बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

Offline KYC कैसे जमा करें ? (How to update KYC Details Offline in Hindi)

अगर आप KYC को ऑफलाइन जमा करने जाते है तो इसके लिए आपको हार्ड कॉपी की जरुरत पड़ती है| ऑफलाइन केवाईसी जमा करने के लिए सबसे पहले आपको KYC का फॉर्म लेना पड़ेगा जिसे आप बैंक से या ऑनलाइन भी डाउनलोड करके प्रिंट भी निकाल सकते है| हालाँकि कुछ जगहों पर केवाईसी का फॉर्म का फॉर्मेट अलग भी हो सकता है लेकिन जानकारी सब फॉर्म में एक जैसी ही भरनी होती है| केवाईसी फॉर्म ऑफलाइन जमा करने के लिए सबसे पहले फॉर्म लेकर उसमे मांगी गई जानकारी को बिलकुल सही से भर लें जैसे आवेदक का नाम, आवेदक के आधार कार्ड का नंबर, पेन कार्ड की डिटेल्स, ग्राहक का फोन नंबर, पता इत्यादि जानकारी को बिलकुल सही से भर लें, जानकारी भरने में अगर कोई भी गलती होती है तो आपकी केवाईसी कैंसिल हो जाएगी इसीलिए सही जानकारी भरें| सभी जानकारी भरने के बाद आवेदक को केवाईसी फॉर्म और अन्य जरुरी डाक्यूमेंट्स की फोटोकॉपी को एक साथ लगाकर जमा कर दें| केवाईसी फॉर्म जमा करने के बाद 2 से 3 दिनों में आपकी केवाईसी (kyc full form in hindi) जमा हो जाती है कुछ मामलो में 7 दिन का समय भी लग सकता है|

KYC के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स (Documents required for KYC)

केवाईसी चाहे आप ऑनलाइन जमा करें या ऑफलाइन जमा करें, लेकिन आपको केवाईसी जमा करने के लिए कुछ डाक्यूमेंट्स की जरुरत जरूर पड़ती है है, चलिए अब हम आपको बताते है की KYC जमा करने के लिए कौन से डाक्यूमेंट्स की जरुरत पड़ती है

  • आवेदक की एक पासपोर्ट साइज रंगीन फोटो
  • आइडेंटिटी प्रूफ के लिए एक आईडी जैसे आधार कार्ड या वोटर कार्ड होना चाहिए|
  • आवेदक का एड्रेस प्रूफ करने के लिए आधार कार्ड  या वोटर कार्ड या पासपोर्ट होना चाहिए|
  • आवेदक का जन्म प्रमाणपत्र भी होना चाहिए|
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या एक्टिवेट मोबाइल नंबर|
  • आवेदक का बैंक खाता नंबर

एसबीआई बैंक में केवाईसी कैसे जमा करें – kyc full form in hindi

यह तो हम सभी जानते है भारत का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई ही है, भारत में शायद ही कोई जगह हो जहाँ पर एसबीआई की ब्रांच ना हो, एसबीआई में 43 करोड़ से भी ज्यादा ग्राहक बताएं जाते है। एसबीआई भी आरबीआई के अंतर्गत ही काम करता है इसीलिए एसबीआई भी अपने सभी ग्राहकों का केवाईसी अपडेटेड रखता है, बैंक ने ग्राहकों की सुविधा के लिए केवाईसी को ऑफलाइन और ईकेवाईसी दोनों माध्यम से जमा करवाता है आपके हिसाब से जो तरीका भी आपको आसान लगे उससे बैंक में केवाईसी जमा कर सकते है| अगर आपका अकाउंट SBI Bank में है और आपको केवाईसी जमा करना है तो अब हम आपको केवाईसी (kyc full form in hindi) जमा करने का तरीका बता रहे है|

sbi बैंक में केवाईसी जमा करने के लिए सबसे पहले आपको SBI बैंक से KYC Form लेना होगा या ऑनलाइन भी sbi केवाईसी फॉर्म डाउनलोड करके प्रिंट निकलवा सकते है, आपके पास आपका एक पासपोर्ट साइज कलर फोटो भी होना चाहिए, सबसे पहले फोटो को केवाईसी फॉर्म पर चिपका दें| उसके बाद फॉर्म में मांगी गई जानकारी जैसे ब्रांच कोड, CIF नंबर, खाता नंबर, आवेदक का नाम, आवेदक की जन्म तिथि, आवेदक का स्थायी पता और अस्थाई पता, आवेदक का व्यवसाय विवरण, आवेदक की सालाना आय, पैन कार्ड नंबर, आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर,  ईमेल आईडी और आवेदक हस्ताक्षर इत्यादि जानकारी भरकर बैंक में जमा कर दें, आपकी केवाईसी (kyc full form in hindi) जल्द अपडेट हो जाती है|

ऊपर हमने आपको स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI ) में केवाईसी कैसे भरें इसकी जानकारी उपलब्ध कराई है,हालाँकि अन्य बेंको में भी केवाईसी जमा करवाई जाती है लेकिन कुछ बेंको में केवाईसी फॉर्म का फॉर्मेट अलग भी हो सकता है लेकिन जानकारी सभी में एक समान ही मांगी जाती है,इसीलिए पंजाब नेशनल बैंक,icici बैंक,idbi बैंक,बैंक ऑफ़ बड़ौदा बैंक या अन्य बैंक में केवाईसी (kyc full form in hindi) जमा करते समय जानकारी बिलकुल सही भरें| i

ई-केवाईसी क्या है? (what is eKYC in hindi? eKYC ka Full Form kya hai?

चलिए अब हम आपको ई-केवाईसी की फुल फॉर्म और ई-केवाईसी के बारे में बताते है| eKYC ka full form hai – Electronic Know your customers और ई केवाईसी का फुल फॉर्म इन हिंदी है इलेक्ट्रॉनिक केवाईसी| केवाईसी की तुलना में ई-केवाईसी को भरना बेहद आसान होता है और eKYC को आप बहुत कम समय में जमा कर सकते है| इसमें आवेदक की आइडेंटिटी और एड्रेस प्रूफ का वेरिफिकेशन इलेक्ट्रॉनिकली किया जाता है। यह तो आप जानते ही है की आज के समय लगभग सभी नागरिको का आधार कार्ड बना हुआ है और आधार कार्ड में प्रत्येक इंसान की बायोमेट्रिक डिटेल्स दर्ज रहती है, किसी भी इंसान की आईडेंटिटी को प्रूफ करने के लिए आपको उस इंसान के अंगूठे को फिंगर रीडर पर दर्ज करन होता है, अंगूठा लगाते ही इंसान का वेरिफिकेशन हो जाता है| ई केवाईसी को बहुत ही सुरक्षित माना जाता है और इसे जमा करने में आपको किसी भी पेपर की जरूरत नहीं होती है| ई केवाईसी भरने के लिए आवेदक का खाता जिस बैंक में हो उसमे आवेदक के आधार की डीटेल्स होनी चाहिए|

केवाईसी के फायदे

ऊपर आपने जाना की केवाईसी कया होती है ? केवाईसी भरना क्यों जरुरी है और केवाईसी कैसे भरते है? चलिए अब हम आपको केवाईसी के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • केवाईसी (kyc full form in hindi) भरने से आप अपने आपको बैंकिंग फ्रॉड से बचा सकते है
  • केवाईसी की वजह से सरकार और आरबीआई को सभी तरह की बैंकिंग ट्रांजैक्शंस का पता होता है|
  • मनी लॉन्डरिंग रोकने में केवाईसी (kyc full form in hindi) मददगार होती है|
  • केवाईसी (kyc full form in hindi) की वजह से बैंक के पास अपने सभी खाताधारकों की सही जानकारी मौजूद होती है|

KYC Form क्यों भरते हैं? केवाईसी जमा करना क्यों जरुरी है ?

KYC Form जमा करवाने का मुख्य कारण आवेदक की पहचान या जानकारी को सत्यापित करवाना होता है| KYC जमा करने से बैंक की ट्रांसेक्शन पर नजर रखने में मदद मिलती है और फ्रॉड होने से बचने में भी मदद मिलती है| .

CKYC क्या है? CKYC का फुल फॉर्म क्या है?

CKYC ka Full Form hai – Central KYC या Central Know your Customer. इस प्रकार की केवाईसी को केंद्र सरकार संभालती है| इस केवाईसी के द्वारा केंद्र सरकार के पास सभी ग्राहकों की जानकारी मौजूद रहती है|

CKYC Status कैसे Check करें?

अगर आप CKYC का स्टेटस जाना चाहते है तो आपको सबसे पहले CSDL (Central Depository Services Limited) की ऑफिसियल वेबसाइट –  https://www.cdslindia.com पर जाना होगा, उसके बाद वेबसाइट पर लॉगिन करें| लॉगिन करे के बाद CKYC चेक करे के ऑप्शन पर जाएं, वहाँ पर अपना पैन कार्ड नंबर डाले और सबमिट पर क्लिक करके चेक करें की आपका CKYC अपडेट है या नहीं|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख kyc full form in hindi या केवाईसी की फुल फॉर्म कया है ? में दी गई जानकारी पसंद आई होगी, लेकिन अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कम लग रही है तो आप गूगल या बिंग पर kyc full form in hindi या केवाईसी की फुल फॉर्म कया है ? लिखकर सर्च कर सकते है|

अन्य फुल फॉर्म के बारे में जाने

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!