सफेद मूसली के फायदे, नुकसान, best Safed Musli Benefits And Side Effects In Hindi

सफेद मूसली के फायदे, नुकसान, best Safed Musli Benefits And Side Effects In Hindi

सफेद मूसली के फायदे : सफेद मूसली का नाम अधिकतर इंसानो ने सुना होगा,लेकिन कया आप सफ़ेद मूसली के फायदे के बारे में भी जानते है, अगर नहीं तो आज हम अपने इस लेख में आपको सफ़ेद मूसली के बारे में अहम् जानकारी देने जा रहे है| प्राचीन समय से ही सफ़ेद मूसली को एक शक्तिवर्द्धक जड़ी बूटी के रूप में माना जाता है, आयुर्वेद में सफ़ेद मूसली को एक औषधि के रूप में इस्तेमाल करा जाता है।

सफेद मूसली की जड़ में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम इत्यादि प्रचुर मात्रा में होते हैं। कुछ लोग जानते है की सफेद मूसली के फायदे (safed musli ke fayde) केवल टाइमिंग बढ़ाने के लिए होते है लेकिन या सच नहीं है| अगर आप गठिया, डायबिटीज, यूटीआई इत्यादि बीमारियों को दूर करने के लिए घरेलू इलाज ढूंढ रहे है तो सफ़ेद मूसली आपके लिए लाभकारी है| सफेद मूसली का उपयोग लगभग सभी चिकित्सा प्रणाली जैसे आयुर्वेदिक, यूनानी और होम्योपैथी में किया जाता है। सफ़ेद मूसली के फायदे जानने से पहले आपके लिए यह जानना जरुरी है की सफ़ेद मूसली कया है?

Table of Contents

सफेद मूसली क्या है? (What is Safed Musli in hindi?)

सफ़ेद मूसली (safed musli in hindi) के पौधे पर सफ़ेद रंग के फूल आते है,इसकी जड़ गुच्छे के रूप में होती है,सफ़ेद मूसली की जड़ और बीज ही सबसे ज्यादा उपयोगी होते है| सफेद मूसली का सेवन करने से आपको काफी सारी बीमारी जैसे मोटापा, पाइल्स या बवासीर, सांसों के रोग, खूनी की कमी, ह्रदय विकार और मधुमेह में भी लाभ प्राप्त होता है|

अन्य भाषाओं में सफेद मूसली के नाम (Safed Musli name in Different Languages)

सफेद मूसली को अलग अलग भाषा में अलग अलग नाम से जाना जाता है| चलिए हम आपको इसकी जानकारी उपलब्ध कराते है –
safed Musli name in –

Safed Musli in Sanskrit – बल्यकन्दा, धवलमूली;
Safed Musli in Hindi – श्वेत मूसली
Safed Musli in Urdu – Musli safeda
Safed Musli in Kannada – Swetha musli
Safed Musli in Gujarati – Safeda musali, Ujli musali
Safed Musli in Tamil – Taniravithang
Safed Musli in Telugu – Swetha musli
Safed Musli in Marathi – Kulai
Safed Musli in Malayalam – Shedevali
Safed Musli in English – Indian spider plant
Safed Musli in Arabic – Shuqaqule hindi
Safed Musli in Persian – Shaququl

सफेद मूसली के फायदे

सफेद मूसली के फायदे (safed Musli benefits in hindi)

सफेद मूसली के बारे में आप ऊपर जान चुके है,सफेद का सेवन करने से आप कई साड़ी बीमारियो में राहत प्राप्त कर सकते है| चलिए अब हम आपको सफेद मूसली के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है –

वजन बढ़ाने में सफेद मूसली के फायदे

किसी भी इंसान का वजन कम हो जाता है तो वो काफी चिंतित हो जाता है और वजन बढ़ाने के लिए दवाई, सिरप इत्यादि का सेवन करता है| लेकिन कया आप जानते सफेद मूसली भी वजन बढ़ाने में सहायक होती है| सफेद मूसली की जड़ो में मौजूद एथेनोलिक अर्क वजन बढ़ाने में सहायक हो सकता है| उचित मात्रा और सेवन की विधि के लिए वैध या चिकित्सक से परामर्श जरूर लें|

गर्भावस्था में फायदेमंद सफेद मुसली 

कोई भी महिला जब गर्भवती होती है तो उसे अपना और अपने खान पीन का खास ख्याल रखना होता है| गर्भवती महिलाओ को भरपूर पोषण और संतुलित भोजन करने की सलाह दी जाती है और उन्हें ऐसा आहार दिया जाता है जो माँ और बच्चे दोनों के लिए लाभदायक हो| सफेद मूसली में मौजूद पोषक तत्व गर्भवती महिला और उसके शिशु के लिए लाभदयक होते है|

लेकिन हम आपको सलाह देंगे की गर्भवती महिला को सफेद मूसली का सेवन चिकित्सक के परामर्श के बाद ही करना चाहिए,चिकित्सक ही गर्भवती महिला के शरीर के अनुसार उचित मात्रा और सेवन की सही जानकारी दे सकते है| गर्भवती महिला को अपनी मर्जी से सफेद मूसली का सेवन नहीं करना चाहिए|

मधुमेह की समस्या को दूर करने के लिए सफेद मूसली के फायदे

अगर मधुमेह की परेशानी से पीड़ित है तो सफेद मूसली आपके लिए लाभकारी है| सफ़ेद मूसली के फायदे अनेको है, सफ़ेद मूसली में एंटी-डायबिटिक और एंटीहाइपरग्लाइसेमिक गुण मौजूद है, जिसकी वजह से मधुमेह में अगर सफ़ेद मूसली का सेवन किया जाएं तो पीड़ित के शरीर में शुगर की मात्रा संतुलित रहती है| मधुमेह से पीड़ित इंसान को चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही सफेद मूसली का उपयोग करना चाहिए|

दस्त को रोकने में सफेद मूसली के फायदे (Safed Musli Benefits in Hindi)

सफेद मूसली के फायदे में से एक फायदा यह भी है सफेद मूसली दस्त की परेशानी में लाभकारी होती है| अगर आप दस्त की समस्या का सामना कर रहे है तो सफ़ेद मूसली का चूर्ण (पतंजलि सफ़ेद मूसली चूर्ण ) का सेवन दूध के साथ करने से आपको जल्द लाभ प्राप्त होता है| सफ़ेद मूसली का चूर्ण दस्त, पेचिश तथा भूख की कमी इत्यादि परेशानियो में भी लाभकारी होता है|

पेशाब में दर्द की परेशानी को दूर करने में सफेद मूसली के फायदे (Safed Musli Powder Benefits in Hindi)

कुछ लोग ऐसे होते है, जिन्हे यूरिन या पेशाब करते समय दर्द या तेज दर्द का सामना करना पड़ता है, अगर आप भी ऐसी समस्या का सामना कर रहे है तो सफ़ेद मूसली आपके लिए भी लाभकारी है| सफेद मूसली के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए उचित मात्रा और सेवन सही होना चाहिए| सफ़ेद मूसली की जड़ के चूर्ण का सेवन करने से जल्द ही आपको दर्द से राहत प्राप्त होगी|

ल्यूकोरिया में सफेद मूसली के फायदे (Benefits of Safed Musli in Leucorrhea in Hindi)

ल्यूकोरिया या सफ़ेद पानी एक ऐसी परेशानी या बिमारी है जिसका सामना अधिकतर महिलाओ को करना पड़ता है| किसी भी महिला को अगर ल्यूकोरिया की बिमारी है तो इसका काफी बुरा असर महिला के स्वास्थ्य पर पड़ता है। सफेद मूसली का सेवन करने से आपको ल्यूकोरिया की परेशानी से निजात मिल सकती है, नियमित रूप से सफ़ेद मूसली का चूर्ण का सेवन करने से आपको बहुत जल्द लाभ मिलेगा|

कमजोरी दूर करने में सफेद मूसली के फायदे (Safed Musli benefits in Hindi)

आजकल की भागदौड़ भारी जिंदगी में असंतुलित और असमय भोजन लेने की वजह से या किसी अन्य कारणों की वजह से इंसान में शारीरिक कमजोरी की परेशानी हो जाती है| अगर आप भी शारीरिक कमजोरी का सामना कर रहे हो तो सफ़ेद मूसली आपके लिए फायदेमंद है| थोड़े से सफ़ेद मूसली के चूर्ण में थोड़ी सी मिश्री मिलाकर दूध के साथ सेवन करने से बहुत जल्द आप स्वस्थ महसूस करने लगते है|

गठिया के दर्द में सफेद मूसली के फायदे ( Safed Musli Benefits in Hindi)

जैसे जैसे इंसान की उम्र बढ़ती है उसके शरीर में कमी आने लगती है,अगर आपके शरीर में कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है तो जोड़ो का दर्द, गठिया इत्यादि रोग हो सकते है| गठिया के लिए बाबा रामदेव का इलाज या उपचार है सफ़ेद मूसली, पतंजलि सफ़ेद मूसली चूर्ण का सेवन नियमित रूप से करने से आपको बहुत जल्द गठिया के दर्द से आराम प्राप्त होता है।

कैंसर से बचाव में सहायक है सफेद मूसली

सफेद मूसली में मौजूद गुण और तत्व कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक होते है| शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने में सहायक होने के साथ साथ शरीर में कैंसर कोशिकाओं को रोकने में मददगार होती है| नियमित रूप से दूध के साथ आधा चम्मच मूसली पाउडर लेने से आप स्वस्थ और अपने आपको कैंसर से बचा सकते है|

इम्युनिटी बढ़ाने में सफेद मूसली के फायदे (safed musli benefits for immune system in hindi)

किसी भी इंसान के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अगर कमजोर या कम होती है तो ऐसे इंसान को सर्दी,जुखाम इत्यादि बीमारी होने की सम्भावना बहुत ज्यादा होती है और अगर आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है तो आपको ऐसी बीमारी होने की संभावना काफी कम होती है| अगर आप अपने शरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ाने का घरेलू नुस्खा या घरेलू दवा सर्च कर रहे है तो सफ़ेद मूसली आपके लिए फायदेमंद है| नियमित रूप से सुबह और शाम एक गिलास दूध के साथ आधा चम्मच मूसली पाक और एक चम्मच शहद लेने से आपको जल्द लाभ मिलता है|

सफेद मूसली के फायदे पुरुषों के लिए

टाइमिंग बढ़ाने में सफेद मूसली के फायदे

अगर आप किसी भी इंसान से पूछेंगे की सफेद मूसली के फायदे (safed musli benefits) कया है तो अधिकतर इंसान आपको जवाब देंगे की सफ़ेद मूसली टाइमिंग और यौन शक्ति को बढ़ाने में सहायक होती है| कुछ इंसान सफ़ेद मूसली को हर्बल वियाग्रा के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। सफ़ेद मूसली में मौजूद गुण आपकी कामोत्तेजना को बढ़ाने के साथ साथ टाइमिंग बढ़ाने में भी सहायक होते है| यौन शक्ति और टाइमिंग बढ़ाने के लिए नियमित रूप से सुबह और शाम एक गिलास गुनगुने दूध के साथ आधा चम्मच मूसली चूर्ण या पॉउडर कासेवन करने से कुछ ही दिनों में लाभ मिलता है|

शीघ्रपतन रोकने में उपयोगी,

आज के समय में खराब जीवनशैली और खानपान,मानसिक तनाव की वजह से पुरुषो में शीघ्रपतन की समस्या बहुत ज्यादा हो रही है| यह एक ऐसी बीमारी या समस्या है जिसके बारे में पुरुष जल्दी से किसी से कह भी नहीं सकते है,इसीलिए शीघ्रपतन से ग्रसित अधिकतर इंसान डॉक्टर के पास जाने की बजाय इंटरनेट पर शीघ्रपतन रोकने की दवा या उपाय ढूंढ़ते है| अगर आप भी शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित है तो सफ़ेद मूसली चूर्ण (safed musli pouder benefits in hindi) आपके लिए बहुत ही लाभदायक औषधि है। नियमित रूप से सुबह और शाम आधा चम्मच सफ़ेद मूसली चूर्ण और आधा चम्मच मिश्री दूध के साथ सेवन करने से आपको कुछ ही दिनों में शीघ्रपतन की परेशानी में लाभ मिलता है| 

नपुंसकता में सफेद मूसली के फायदे

सफ़ेद मूसली में मौजूद गुण और पोषक तत्व शोध के अनुसार पुरुष के शरीर में वीर्य का उत्पादन बढ़ाने के साथ साथ गुणवत्ता में भी सुधार लाते है| नियमित रूप से सफ़ेद मूसली का सेवन करने से नपुंसकता जैसी परेशानियो से भी बचा जा सकता है| नपुंसकता के इलाज के लिए कौंच के बीज और सफेद मूसली का सेवन एक साथ करने से काफी लाभ मिलता है| नपुंसकता का घरेलू इलाज है सफ़ेद मूसली और कोंच के बीज का सेवन दूध के साथ सुबह और शाम करने से जल्द ही लाभ प्राप्त होता है| 

स्वप्नदोष की कमजोरी दूर करने में सहायक (safed musli for nightfall) 

स्वप्नदोष की परेशानी का सामना बहुत से इंसानो को करना पड़ता है, स्वप्नदोष होने की वजह कई सारी हो सकती है| अगर आपको भी स्वप्नदोष की परेशानी है और स्वप्नदोष का घरेलु इलाज या आयुर्वेदिक दवा सर्च कर रहे है तो सफ़ेद मूसली से स्वप्नदोष का इलाज संभव है, नियमित रूप से सफ़ेद मूसली के चूर्ण का इस्तेमाल करने से आपको बहुत जल्द लाभ प्राप्त होता है| रोजाना सुबह और शाम खाना खाने के बाद लगभग एक गिलास दूध में आधा चम्मच सफेद मूसली पाउडर (safed musli powder) को मिलकर पी लें, इससे स्वप्नदोष और स्वप्नदोष की वजह से होने वाली कमजोरी भी जल्द दूर होने लगती है|

सफेद मूसली के नुकसान और सावधानियां (safed musli side effects and precautions) 

ऊपर आपने सफेद मूसली के फायदे (safed musli benefits in hindi) के बारे में जानकारी प्राप्त की है,लेकिन जिस तरह सफेद मूसली के फायदे है उसी सफेद मूसली के कुछ नुक्सान भी है| सफेद मूसली के नुक्सान आपको ज़रुरत से ज्यादा मात्रा में या गलत तरीके से सेवन करने की वजह से देखने को मिलते है| चलिए अब हम आपको सफेद मूसली के नुकसान (safed musli ke nuksan) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  •  अगर कोई भी इंसान सफेद मूसली का सेवन बहुत अधिक मात्रा में करता है तो कई बार उस इंसान की भूख कम होने की समस्या हो सकती है| इसीलिए हम आपको सलाह देंगे की सफेद मूसली का सेवन करने से पहले किसी चिकित्सक या वेध से परामर्श जरूर लें| गलत मात्रा में सेवन करने से आपको परेशानी हो सकती है|
  •  बहुत से लोगो के मन में यह सवाल होता है की सफेद मूसली की तासीर कैसी होती है? तो हम आपको बता दें की सफेद मूसली की तासीर ठंडी होने की वजह से कई बार इसके सेवन करने से शरीर में कफ की मात्रा बाद सकती है| अगर आपको पहले से कफ से जुड़ी समस्या है तो आपको सफेद मूसली का सेवन नहीं करना चाहिए और अगर सेवन करना है तो चिकित्सक से उचित मात्रा जानने के बाद ही सेवन करें।
  • ऐसी महिलाऐं जो गर्भवती है या शिशु को दूध पिलाती है, सफेद मूसली के सेवन से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है| ऐसी महिलाओ को सफेद मूसली का सेवन करने से पहले स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श जरूर लेना चाहिए और उनकी सलाह से ही उचित मात्रा में सेवन करना चाहिए|
  •  अगर आप किसी भी पाचन से सम्बंधित परेशानी का सामना कर रहे है तो आपको सफेद के सेवन से बचना चाहिए| और अगर सेवन करना है तो किसी वेध या चिकित्सक के परामर्श और आपके लिए उचित मात्रा की जानकारी लेने के बाद ही सेवन करें|

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख सफेद मूसली के फायदे पसंद आया होगा| सफेद मूसली हमारे शरीर के लिए काफी लाभकारी होती है लेकिन किसी भी औषधि की उचित मात्रा में सेवन बहुत जरुरी होता है| इसीलिए सफेद मूसली के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए किसी चिकित्सक और वैध से परामर्श जरूर लें| अगर आपको हमारा लेख सफेद मूसली के फायदे पसंद नहीं आया है तो आप गूगल या बिंग पर सफेद मूसली के फायदे लिख कर सर्च करके और ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!