शतावरी के फायदे, उपयोग और नुकसान, shatavari churn 12 benefits in hindi

शतावरी के फायदे, उपयोग और नुकसान, shatavari churn 12 benefits in hindi

शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi) : प्राचीन समय से शतावरी (asparagus hindi name) का इस्तेमाल शरीर की कई सारी बीमारियो को दूर करने के लिए किया जाता है| आज के समय में बहुत कम ऐसे इंसान है जिन्होंने शतावरी का नाम सुना या शतावरी को देखा होगा, इसीलिए अधिकतर इंसान शतावरी के फायदे से अनजान होते है|

लेकिन कया आप जानते है की शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi) महिलाओं के लिए और शतावरी के फायदे पुरुषों के लिए अनेको है, अब शायद आपके मन में शतावरी को लेकर कई सारे सवाल जैसे शतावरी क्या है, शतावरी के फायदे क्या हैं, शतावरी का सेवन कैसे और कितनी मात्रा में करना चाहिए, शतावरी कहां मिलती है और शतावरी के नुकसान कया है ?|

अगर आपके मन उपरोक्त सवाल है तो आज हम अपने इस लेख शतावरी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करने की कोशिश करेंगे| आयुर्वेद में शतावरी को एक जड़ी-बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, शतावरी अनेक बीमारियों की रोकथाम या इलाज करने में मददगार होती है| चलिए अब हम आपको सबसे पहले यह बताते है की शतावरी आखिर होती कया है|

shatavari benefits in hindi

Table of Contents

शतावरी क्या है? (hindi meaning of asparagus, asparagus hindi , What is Shatavari in Hindi?)

सतावर अथवा शतावर को ऐस्पेरेगस रेसीमोसस के नाम से भी जाना जाता है, अगर आपने कभी शतावरी को नहीं देखा है तो हम आपको बता दें, शतावरी बेल या झाड़ (shatavari plant) के रूप में दिखाई देती है, शतावरी की लता बहुत फैलने वाली और झाड़ीदार होती है। पहले शतावरी हिमालयी क्षेत्रों में ही उगाई जाती थी लेकिन अब भारत में कई जगहों पर शतावरी की खेती की जाती है, वसंत ऋतु के मौसम में बहुत से शहर में सब्जी के रूप में मिलती है, शतावरी को बेहद कम कैलोरी वाली सब्जी के रूप में भी जाना जाता है|

शतावरी की एक बेल के नीचे लगभग 100 से भी ज्यादा जड़ें निकलती है, इन जड़ो की मोटाई एक से दो सेंटीमीटर की होती हैं। कुछ लोगो मानना है की शतावरी की पहचान वर्ष 1800 के आस पास हुई थी| शतावरी में विटामिन ए, विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन ई, प्रोटीन,विटामिन के, फोलेट, कैल्शियम, फाइबर और आयरन प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। शतावरी की जड़ों को अगर आप देखते है तो इनके ऊपर भूरे रंग का पतला छिलका होता है जिसे हटाने पर अन्दर से सफ़ेद दूध के समान जड़ निकलती हैं।

शतावरी के फायदे (Shatavari Benefits and Uses in Hindi)

पहले ज़माने से शतावरी का उपयोग शरीर कई सारी बीमारियो को दूर करने के लिए होता आया है, अगर आप शतावरी के फायदे पूर्ण रूप से लेना चाहते है तो आपको शतावरी का सही उपयोग, उचित मात्रा की जानकारी होना जरुरी है| शतावरी के फायदे पुरुष और महिला दोनों के लिए है, चलिए अब हम आपको शतावरी के फायदे बताते है-

1 – नींद ना आने का घरेलू इलाज है शतावरी चूर्ण

कुछ पुरुष या महिला ऐसे होते है जिन्हे नींद नहीं आती है या बहुत ज्यादा कम आती है,ऐसे में अगर आप नींद आने की दवा सर्च करते है| शतावरी में मौजूद गुण आपकी इस परेशानी को दूर करने में सहायक होते है| नियमित रूप से शतावरी चूर्ण का सेवन करने से बहुत जल्द नींद ना आने की परेशानी समाप्त हो जाती है, सेवन के लिए उचित मात्रा की जानकारी किसी वैध से जरूर लें|

2 – शारीरिक कमजोरी को दूर करने में सहायक है शतावरी

ऐसे पुरुष या महिला जिन्हे शारीरिक कमजोरी या शरीर में ताकत की कमी महसूस होती है उनके लिए भी शतावरी बहुत फायदेमंद होती है, नियमित रूप से शतावरी का सेवन करने से जल्द ही कमजोरी दूर होने लगती है|

3 –  सर्दी जुकाम का घरेलू इलाज है शतावरी

सर्दी जुकाम की परेशानी बहुत ही आम बात है, शतावरी में मौजूद गुण सर्दी-जुकाम की परेशानी को दूर करने में सहायक होते है| शतावरी की जड़ का काढ़ा बना लें। इसे 15-20 मिली मात्रा में पीने से आराम (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) मिलता है।

4 –  बवासीर का इलाज है शतावरी

आज के समय में बहुत से ऐसे इंसान है जो बवासीर की परेशानी का सामना कर रहे है, अगर आप भी बवासीर की परेशानी से प्रसित है तो शतावरी चूर्ण आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| नियमित रूप से शतावरी चूर्ण का सेवन दूध के साथ करने से आपको जल्द लाभ (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) प्राप्त हो सकता है|

5 – शतावरी के फायदे है हड्डियां मजबूत बनाने में

किसी भी इंसान के शरीर में विटामिन k की कमी होने से हड्डियां और जोड़ कमजोर होने लगते है, अगर आप इसका सही समय पर इलाज नहीं करते है तो आपको घातक परिणाम भी भुगतने पड़ सकते है| शतावरी में विटामिन k ,आयरन और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में होता है जो हड्डियों और जोड़ो को मजबूती प्रदान करने में सहायक होता है, इसीलिए नियमित रूप से शतावरी का सेवन करने से जल्द ही आपके शरीर की हड्डियां मजबूत हो जाती है|

6 –  जल्दी वजन कम करने का उपाय है शतावरी

अगर आप बड़े हुए वजन की समस्या का सामना कर रहे है और आप वजन कम करने के लिए घरेलू इलाज सर्च कर रहे है तो शतावरी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है| शतावरी में फाइबर की मात्रा भरपूर और बहुत कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है इसीलिए यह वजन घटाने में सहायक होती है|

7 –  मधुमेह के रोग में भी फायदेमंद है शतावरी

अगर आप मधुमेह की परेशानी से ग्रसित है तो शतावरी आपके लिए फायदेमंद है| शतावरी में मौजूद गुण ब्लड में मौजूद शर्करा की मात्रा को संतुलित करने में सहायक होती है| शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi)

8 –  पेचिश में फायदेमंद शतावरी का प्रयोग

अगर आप पेचिश की समस्या से परेशान है तो शतावर आपके लिए लाभकारी हो सकती है| सबसे पहले थोड़ी सी शतावरी लेकर उसे दूध के साथ पीस लें, फिर इसे छान लें बस अब इस मिश्रण को दिन में तीन बार पीने से पेचिश से आराम (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) प्राप्त हो जाएगा|

9 –  अपच का घरेलू इलाज है शतावरी

किसी भी महिला या पुरुष को अगर ठीक से खाना नहीं पचने की परेशानी होती है तो इसे अपच की परेशानी कहा जाता है, शतावरी के फायदे अपच की परेशानी को दूर करने में भी है| पांच मिलीग्राम शतावरी की जड़, थोड़ा सा शहद इन दोनों चीजों को दूध के साथ सेवन करने से आपको अपच की परेशानी से राहत (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) मिल जाएगी|

10 –  सिर दर्द का घरेलू उपाय है शतावरी

सिर दर्द की परेशानी किसी भी महिला या पुरुष को कभी हो सकती है, शतावरी में मौजूद गुण और अन्य पोषक तत्व सिर दर्द से भी आराम दिलाने में सहायक होते है| सिर दर्द से निजाते पाने के लिए सबसे पहले थोड़ी सी शतावरी ताजी जड़ को अच्छी तरह कूटकर उसका रस निकाल लें, अब बराबर मात्रा में शतावरी की जड़ का रस और तिल का तेल लेकर दोनों को मिलाकर अच्छी तरह से उबाल लें, उबाल आने पर गैस बंद कर दें| ठंडा हो जाने पर किसी शीशी में रख लें, जब भी सिर में दर्द हो इस तेल से सिर की हल्के हाथो से मालिश करने से आपको सिर दर्द में राहत प्राप्त होती है|

11 –  नाक की सभी परेशानियो को दूर करने में सहायक है शतावरी

अगर आप किसी भी प्रकार की नाक से सम्बंधित परेशानी का सामना कर रहे हो तो शतावरी आपकी इस परेशानी को दूर करने में सहायक होती है| सबसे पहले थोड़े से दूध में शतावरी चूर्ण डालकर दूध को अच्छी तरह से पका लें, अच्छी तरह उबलने के बाद गैस बंद कर दें और ठंडा होने छानकर सेवन कर लें| इस नुस्खे को अपनाने से जल्द ही नाक से सम्बंधित रोगो से राहत मिल जाती है|

12 –  घाव को जल्दी सूखने में लाभकारी है शतावरी

अगर आपके किसी चोट की वजह से कोई घाव हो जाता है तो शतावरी से आप उस घाव को भर सकते है| शतावरी में मौजूद गुण घाव को सूखने में मददगार होते है| अगर आप किसी घाव से पीड़ित है तो सबसे पहले शतावरी के लगभग 20 ग्राम पत्तों को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें, फिर चूर्ण की दुगुनी मात्रा में घी लेकर चूर्ण को अच्छी तरह से भून कर ठंडा कर लें, इस मिश्रण को घाव पर लगाने से पुराने से पुराना घाव जल्द ही ठीक होने लगता है|

13 –  बार बार पेशाब आने का घरेलू इलाज है शतावरी

ऐसे बहुत सारे इंसान होते है जिन्हे बार-बार पेशाब जाने की समस्या होती है, अगर आप भी यूरिन इन्फेक्शन की समस्या से ग्रसित है तो शतावरी आपके लिए फायदेमंद हो सकती है| थोड़ी सी शतावर की जड़ को पानी में डालकर अच्छी तरह से उबाल कर काढ़ा बना लें, फिर इसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर सेवन कर लें नियमित रूप से इस काढ़े को पीने से बार बार पेशाब आने की समस्या के साथ यूरिन इन्फेक्शन जैसी समस्याओ में लाभ प्राप्त होता है|

14 –  बुखार में भी फायदेमंद है शतावरी

बुखार की परेशानी से निजात दिलाने में शतावरी मददगार होती है| शतावर और गिलोय को बराबर मात्रा में लेकर दोनों को अच्छी तरह से पीस कर उसका रस निकाल लें, थोड़ा सा रस लेकर उसमे थोड़ा सा गुड़ डालकर अच्छी तरह मिलाकर पीने से जल्द ही आपको बुखार में लाभ (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) प्राप्त होता है।

15 – पथरी का घरेलू नुस्खा है शतावरी

आज के समय में पथरी की परेशानी से पीड़ित इंसानो की संख्या बहुत ज्यादा हो गई है, अगर आप भी इस परेशानी से पीड़ित है तो शतावरी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती | सबसे थोड़ी सी शतावरी की जड़ को अच्छी तरह कूट कर उसका रस निकाल लें, अब गाय का दूध और शतावरी रस दोनों को बराबर मात्रा में लेकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें, नियमित रूप से इस नुस्खे को करने से आपको पथरी की परेशानी से राहत मिल सकती है| शतावरी के फायदे पूर्ण रूप से लेने के लिए वैध से उचित मात्रा और तरीका जानने के बाद ही सेवन करें|

शतावरी के फायदे महिलाओं के लिए,शतावरी चूर्ण बेनिफिट्स फॉर फीमेल

शतावरी औषधि महिलाओ के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी है, अगर शतावरी चूर्ण के फायदे महिलाओ के बहुत ज्यादा है| चलिए अब हम आपको शतावरी के फायदे महिलाओ के लिए की जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

1 – मासिक धर्म से संबंधित बीमारियों को दूर करने में सहायक है शतावरी –

किसी भी महिला के लिए मासिक धर्म का समय बहुत ही कष्टदायक होता है, जिससे सिर्फ एक महिला ही समझ सकती है| अक्सर महिलाऐं मासिक धर्म से संबंधित परेशानी जैसे ज्यादा ब्लीडिंग रोकने की दवा, पीरियड्स में बार-बार ब्लीडिंग होने का घरेलू इलाज, पीरियड्स में होने वाले काफी दर्द की दवा इत्यादि को सर्च करके अपनी परेशानी का समाधान (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) ढूंढ़ती है|

अगर आप मासिक धर्म से सम्बंधित परेशानी से छुटकारा पाना चाहते है तो शतावरी आपके लिए बेहतर विकल्प है,नियमित रूप से शतावरी का सेवन करने से पीरियड्स के दौरान होने वाली सभी परेशानियो से छुटकारा प्राप्त हो सकता है| चिकित्सक से सलाह लें की आपके शरीर और उम्र के हिसाब से शतावरी की उचित मात्रा कया है, उचित मात्रा में सेवन करने से ही आपको पूर्ण लाभ (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) प्राप्त होता है|

2 – जल्दी गर्भधारण करने का घरेलू उपाए है शतावरी

आज के समय में ऐसी बहुत सारी महिलाएं हैं जो गर्भधारण नहीं कर पा रही है,शतावरी को जल्दी से गर्भधारण करने की दवा के रूप में भी माना जा सकता है| किसी भी महिला के लिए गर्भधारण करने का सबसे उपयुक्त समय ऑव्यूलेशन समय माना जाता है,क्योंकि इसी समय महिला गर्भधारण करती है| कुछ महिलाओ का ऑव्यूलेशन समय सही नहीं होता है जिसकी वजह से उन्हें गर्भधारण करने में परेशानी होती है| उचित मात्रा में शतावरी चूर्ण का सेवन करने से महिला का ऑव्यूलेशन सही समय पर और सही से होने लगता है,जिससे महिला को गर्भधारण करने में आसानी हो जाती है| चिकित्सक की सलाह से उचित मात्रा में शतावरी का सेवन करने से जल्द आपको लाभ प्राप्त होगा|

3 – गर्भावस्था और प्रसव के बाद है लाभदायक –

महिलाओ में गर्भधारण में मदद करने के साथ साथ शतावरि गर्भावस्था में भी महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद होती है| शतावरी में मौजूद फोलेट और अन्य पोषक तत्व गर्भावस्था में महिला और उसके अंदर पल रहे शिशु के लिए फायदेमंद होते है| लेकिन शतावरी का इस्तेमाल करने से पहले चिकित्सक से परामर्श जरूर लें क्योंकि सभी का शरीर अलग होता है और किसके शरीर के लिए कितनी मात्रा उचित होती है इसकी सही जानकारी चिकित्सक और वैध ही बेहतर बता सकते है|

4 – महिलाओ में दूध की कमी का घरेलू इलाज है शतावरी –

बहुत सारी महिलाओं में शिशु के जन्म के बाद दूध बहुत कम मात्रा में होता है, दूध कम आने की वजह से शिशु भूखा रह जाता है| अगर आप भी इस परेशानी का सामना कर रहे है तो शतावरी आपके लिए लाभदायक हो सकती है| शतावरी की जड़ का चूर्ण (लगभग 10 ग्राम) को एक गिलास दूध में अच्छी तरह से मिलाकर सेवन करने से आपको जल्द लाभ (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) प्राप्त होता है|

5 – चमकदार त्वचा पाने की दवा है शतावरी – 

किसी भी महिला के मुहांसे होने पर वह बहुत चिंतित हो जाती है| शतावरी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट ग्लूटाथियोन घाव भरने, मुंहासों को सही करने और त्वचा को चमकदार बनाने में सहायक (शतावरी के फायदे, shatavari benefits in hindi) होता है|

शतावरी चूर्ण के फायदे पुरुषों के लिए, शतावरी चूर्ण बेनिफिट्स फॉर मेल (Shatavari Churna Benefits For Male In Hindi )

आपने ऊपर पढ़ा की शतावरी चूर्ण के फायदे महिलाओ के लिए, लेकिन कया आप जानते है की शतावरी जितना महिलाओ के लिए फायदेमंद है उतनी ही पुरषो के लिए भी लाभदायक है| चलिए अब हम आपको शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi) पुरषो के लिए बताते है –

1 – टाइम बढ़ाने की मेडिसिन – शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi)

अकसर पुरुष अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर बहुत ज्यादा चिंतित होते है, सभी पुरुष चाहते है की उनका पार्टनर उनसे संतुष्ट और खुश रहे| इसलिए सभी पुरुष अपनी टाइमिंग को लेकर परेशान रहते है,लेकिन हम आपको बता दें टाइम बढ़ने की मेडिसिन है शतावरी चूर्ण| नियमित रूप से शतावरी चूर्ण लेने से आपको बहुत जल्द लाभ प्राप्त होगा|

2 – स्वप्न दोष की दवा है शतावरी – शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi)

स्वप्न दोष की परेशानी का सामना बहुत से पुरुष करते है और अगर वो इसका इलाज नहीं करते है तो इसका असर उनके शरीर पर भी पढ़ने लगता है| अगर आप भी इस परेशानी का सामना कर रहे हो तो शतावरी आपके लिए फायदेमंद है| थोड़ी सी मिश्री को बारीक पीस लें, फिर बराबर मात्रा में पीसी हुई मिश्री और शतावर चूर्ण को आपस में मिलाकर मिश्रण बनाकर रख लें, नियमित रूप से सुबह और शाम इस मिश्रण में से लगभग 5 ग्राम मिश्रण गाय के दूध के साथ सेवन करने से जल्द लाभ प्राप्त होता है|

3 – नपुंसकता का घरेलू इलाज है शतावरी

नियमित रूप से शतावरी का सेवन करने से नपुंसकता, मर्दानगी ताकत की कमी, वीर्य की कमी जैसी परेशानी से भी राहत मिल सकती है|

अन्य भाषाओं में शतावरी के नाम (Name of Shatavari in Different Languages)

शतावरी एक प्रसिद्ध औषधि है, भारत के अलग राज्यो की भाषा में शतावरी को अलग अलग नामो से से जाना जाता है| चलिए अब हम आपको शतावरी के अलग अलग नामो की जानकारी उपलब्ध करा रहे है

Asparagus in Hindi or Asparagus meaning in Hindi- सतावर, शतावरी

Shatavari in English- Wild asparagus (वाईल्ड एस्पैरागस)

Asparagus in Sanskrit – शतपदी, महाशीता, नेटिव एस्पैरागस (Native asparagus)

Asparagus in Urdu – सतावरा (Satavara)

Asparagus in Oriya – Chhotaru, Mohnole

Asparagus in Gujarati- Ekalkanta

Asparagus in Tamil or Asparagus meaning in tamil – Kilavari or Paniyinakku

Asparagus in Telugu or Asparagus in telugu – Challagadda or Ettavaludutige

Asparagus in Bengali – Shatamuli or Satmuli

Asparagus in Punjabi – Bozandan or Bozidan

Asparagus in Marathi – Asvel or Shatavari

Asparagus in Malayalam – Shatavari or Shatavali

Asparagus in Nepali – Satamuli or Kurilo

Asparagus in Arabic – Shaqaqul

Asparagus in Persian – Shaqaqul

शतावरी के नुकसान

जिस तरह से किसी भी चीज के लाभ होते है उसी प्रकार से कुछ नुक्सान भी जरूर होते है| किसी भी औषधि का सेवन सही मात्रा में और सही तरह से ना किया जाएं तो उसका नकारात्मक प्रभाव भी पड़ सकता है| इसीलिए हमेशा किसी भी औषधि का इस्तेमाल किसी वैध की सलाह के बाद ही करना चाहिए| चलिए अब हम आपको शतावरी के नुक्सान के बारे में बताते है-

  •  अगर आप शतावरी का अधिक मात्रा में सेवन करते है तो कई बार आपको आंखो में खुजली और त्वचा में खुजली की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है|
  •  शतावरी का सेवन करने से आपको अलेर्जी की परेशानी भी हो सकती है|
  •  गर्भावस्था की महिलाओ को शतावरी का सेवन उचित मात्रा में लेना लाभदायक है लेकिन अगर आप गलत मात्रा में सेवन आकर लेते है तो इसके दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते है| इसीलिए हमेशा चिकित्सक या वैध की सलाह से शतावरी का सेवन करें|

उम्मीद है की आपको हमारा लेख शतावरी के फायदे (shatavari benefits in hindi) पसंद आया होगा। आप और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो गूगल पर शतावरी के फायदे (shatavari benefits in हिंदी) लिख कर जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!