special sukhi khansi ke gharelu upay, सूखी खांसी का रामबाण इलाज, 2021

special sukhi khansi ke gharelu upay, सूखी खांसी का रामबाण इलाज, 2021

sukhi khansi ke gharelu upay : आमतौर पर खाँसना या खांसी आना एक सामान्य शारीरिक क्रिया होती है| खांसी की परेशानी कभी भी किसी को भी हो सकती है, लेकिन अगर इंसान खांसी से लंबे समय तक पीड़ित रहता है तो यह एक परेशानी का कारण हो सकता है| खांसी ज्यादा होने से इंसान के गले में दर्द होने लगता है, कई बार पीड़ित इंसान का शरीर भी थकने लगता है, साथ वालो को भी इन्फेक्शन फ़ैल सकता है| खांसी होने पर इंसान को सबसे पहले यह जानना जरुरी होता है की खांसी कौन सी हुई है, सूखी खांसी और बलगम या कफ़ वाली खांसी। अगर आप सूखी खांसी से पीड़ित है तो सबसे पहले आपको सूखी खांसी के लक्षण और सूखी खांसी होने के कारणों को जानना भी जरुरी है| चलिए सबसे पहले हम आपको सूखी खांसी के लक्षणों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है|

Table of Contents

सूखी खांसी के लक्षण (Symptoms Of Dry Cough in hindi)

सुखी खांसी बलगम वाली खांसी से थोड़ी सी अलग होती है, सूखी खांसी में खांसने के दौरान बलगम नहीं आता है| लेकिन सूखी खांसी अगर सही समय पर ठीक ना हो तो गले में दर्द, सीने में जलन और दर्द की परेशानी का भी सामना करना पड़ सकता है| खांसी अगर जल्दी ठीक ना हो तो आपको कभी लापरवाही नहीं करनी चाहिए, तुरंत किसी अच्छे चिकित्सक से परामर्श और इलाज कराना चाहिए|

सूखी खांसी होने के कारण या सूखी खांसी का कारण (Sukhi Khansi Kis Karan se Hoti Hai)

सूखी खांसी होने के काफी सारे कारण होते है, चलिए कुछ कारणों के बारे में हम आपको जानकारी उपलब्ध कराते है|

1 – अगर किसी इंसान की नाक और गले में किसी प्रकार की एलर्जी की परेशानी है तो भी सूखी खांसी की परेशानी हो सकती है| कई बार आपको धूल, मिटटी, धुंआ और बदलते मौसम की वजह से भी एलर्जी की परेशानी हो सकती है फिर उस एलर्जी की वजह से भी सूखी खांसी आने लगती है|

2 – अगर आपको किसी भी प्रकार की सांस की बिमारी होती है तो भी कई बार इन बिमारियों के कारण भी सूखी खांसी की शिकायत हो सकती है।

3 – किसी भी महिला या पुरुष को मौसमी बुखार, वायरल इन्फेक्शन, सर्दी, बुखार इत्यादि हो रहा है तो भी सुखी खांसी हो सकती है|

4 – प्रदूषित वातावरण का असर इंसान के फेफड़ो पर पड़ने की वजह से भी कई बार सूखी खांसी की परेशानी का सामना करना पड़ जाता है|

sukhi khansi ke gharelu upay

सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार, सूखी खांसी को दूर करने के घरेलू उपाय, सूखी खांसी की देसी दवा, सूखी खांसी का घरेलू इलाज   

अगर आप सूखी खांसी को घरेलू उपाय से दूर करना चाहते है तो हम आपको कुछ आसान और असरदायक घरेलू नुस्खे बताने जा रहे है, जिनका उपयोग करके आप सूखी खांसी की समस्या से निजात पा सकते है, चलिए जानते है सूखी खांसी को दूर करने के लिए घरेलू उपाय (sukhi khansi ke gharelu upay) निम्न प्रकार है – 

1 – सूखी खांसी का घरेलू उपाय है पीपल की गांठ

अगर आप सूखी खांसी की परेशानी से ग्रसित है और आप सूखी खांसी का घरेलू उपाय (sukhi khansi ke gharelu upay) सर्च कर रहे है तो पीपल की गांठ आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है| सूखी खांसी को दूर करने के लिए यह एक घरेलू दवाई है, इस घरेलू दवाई को तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले पीपल की एक गांठ लेनी है,फिर उस गांठ को महीन पीस लें, फिर उसमे लगभग एक चम्मच शहद को अच्छी तरह से मिलाकर खा लें। नियमित रूप से इस नुस्खे को करने से कुछ ही दिन में आपको सूखी खांसी की परेशानी से मुक्ति मिल जाएंगी|

2 – गिलोय है सूखी खांसी को दूर करने का घरेलू उपाय (sukhi khansi ke gharelu upay)

आज के समय में शायद ही कोई इंसान हो जिसे गिलोय के बारे में ना पता हो, गिलोय में मौजूद औषधीय गुण शरीर की इम्यून पावर को बढ़ाने के साथ साथ कई अन्य बीमारियों का इलाज करती है। रोजाना सुबह खाली पेट और शाम को गिलोय के रस का सेवन करने से सूखी खांसी (sukhi khansi ke gharelu upay) जल्द ही ठीक हो जाती है|

3 – सूखी खांसी का घरेलू नुस्खा है शहद  

शहद में मौजूद औषधीय गुण हमारे शरीर के लिए लाभदायक होने के साथ साथ काफी साड़ी बीमारियो को दूर करने में सहायक होते है| अगर आप सूखी खांसी का घरेलू उपाय (sukhi khansi ke gharelu upay) ढूंढ रहे है तो शहद आपके लिए बेहतर विकल्प है| एक चम्मच शहद और चौथाई चम्मच मुलेठी का चूर्ण लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को ऊँगली की मदद से थोड़ा थोड़ा चाटते हुए खा लें, जल्द ही आपको खांसी से राहत मिल जाएगी।

4 – नीलगिरी का तेल – sukhi khansi ke gharelu upay

नीलगिरी का तेल सांस लेने की परेशानी में राहत पहुंचाने में सहायक होता है| थोड़े से नारियल तेल या जैतून के तेल में नीलगिरी की कुछ बूंदें डालकर अच्छी तरह से मिलाकर छाती पर मालिश करने से लाभ प्राप्त होता है| कई बार सूखी खांसी ज्यादा होने की वजह से सीने में दर्द या साँस लेने में थोड़ी परेशानी हो सकती है ऐसे में नीलगिरि के तेल की मालिश लाभ पहुंचा सकती है| लेकिन अगर आपको परेशानी हो रही है तो तुरंत किसी चिकित्सक से परामर्श और इलाज कराना चाहिए|

5 – पिपरमेंट है खांसी को दूर करने का घरेलू नुस्खा – sukhi khansi ke gharelu upay

पिपरमेंट में मौजूद मेंथोल कम्पाउंड खांसी की परेशानी में राहत प्रदान कर सकता है| सूखी खांसी में कई बार गले में जलन और दर्द की परेशानी होने लगती है ऐसे में पिपरमेंट आपके लिए लाभदायक होता है| नियमित रूप से दिन में 2 से 3 बार सूखी खांसी से ग्रसित इंसान को पिपरमेंट की चाय पिलाने से खांसी की समस्या में काफी आराम प्राप्त होता है|

6 – सूखी खांसी की घरेलू दवाई है नमक पानी

अगर आप सूखी खांसी का घरेलू उपाय (sukhi khansi ke gharelu upay) सर्च कर रहे है तो नमक का पानी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है| इस नुस्खे के लिए सबसे पहले आपको एक गिलास पानी को गर्म कर लेना है फिर उसमे थोड़ा सा नमक डाल कर अच्छी तरह से मिला लें, फिर उस गर्म पानी से गरारे करें, सुबह और रात को सोने से पहले गरारे करने से आपको खांसी के साथ साथ गले की खुजली और दर्द से भी राहत मिलती है|

7 – काली मिर्च – sukhi khansi ke gharelu upay

काली मिर्च लगभग सभी घरो में आसानी से मिल जाती है, लेकिन कम लोग जानते है की काली मिर्च सूखी खांसी में राहत पहुंचाती है| काली मिर्च में मौजूद औषधीय गुण किसी प्रकार की खांसी को खत्म करने में सहायक होते है| सबसे पहले आपको थोड़ी सी काली मिर्च लेकर उन्हें महीन पीस कर चूर्ण बना लें, अब एक चम्मच देसी घी और एक चम्मच काली मिर्च पॉउडर लेकर दोनों को अच्छी तरह से भून लें, अब इस भुने हुए मिश्रण को थोड़ा थोड़ा करके दिन भर चाटने से बहुत जल्द आपको सूखी खांसी में आराम मिल जाता है।

8 – मसाला चाय – sukhi khansi ke gharelu upay

सुखी खांसी होने पर मसाला चाय पीने से भी काफी लाभ प्राप्त होता है| मसाला चाय बनाने के लिए सबसे पहले एक गिलास पानी को उबलने रख दें फिर इसमें थोड़े से तुलसी के पत्ते, काली मिर्च, लौंग और थोड़ा सा अदरक कूट कर डाल दें, कुछ देर पकाने के बाद गैस बंद कर दें बस मसाला चाय बन कर तैयार है सिप सिप लेकर पीने से आपको काफी लाभ मिलेगा| मसाला चाय खांसी के साथ साथ गले और छाती का इन्फेक्शन की समसया को दूर करने में सहायक होती है|

9 –  तुलसी का काढ़ा (Sukhi Khansi Ka Kadha) – sukhi khansi ke gharelu upay

अगर आप सूखी खांसी के काढ़ा बनाना चाहते है तो तुलसी का काढ़ा आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| तुलसी का पौधा हिन्दू धर्म के लिए पूजनीय होने के साथ साथ एक औषधीय गुणों से भरपूर पोषा होता है| प्राचीन समय से तुलसी का उपयोग काफी सारी बीमारी जैसे खांसी, ज़ुकाम और मौसमी बुखार इत्यादि में राहत प्रदान करने में किया जाता है। तुलसी का काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले आपको 8 से 10 तुलसी से पत्तों को लेकर उन्हें अच्छी तरह से धो लें, फिर एक गिलास पानी में इन पत्तो को डालकर पानी को आधा रहने तक उबाल लें, फिर इस मिश्रण को कप में छान लें, स्वादनुसार शहद डालकर अच्छी तरह से मिला लें, बस काढ़ा तैयार है अब घूंट घूंट कर पी लें, दिन में दो से तीन बार इस काढ़ें को पीने से आपको सूखी खांसी में जल्द ही लाभ प्राप्त होता है|

sukhi khansi ke gharelu upay, sukhi khansi ke gharelu upay hindi me,

उम्मीद है की आपको हमारा लेख सूखी का इलाज (sukhi khansi ke gharelu upay) पसंद आया होगा,लेकिन हम आपको अंत में सलाह देंगे की अगर आपको देसी नुस्खों से आराम नहीं मिल रहा है या खांसी बढ़ रही है तो कभी भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए तुरंत किसी अच्छे चिकित्सक से परामर्श और इलाज करना चाहिए| अगर आपको हमारे द्वारा बताए गए नुस्खे पसंद नहीं आए है तो आप गूगल या बिंग पर sukhi khansi ke gharelu upay सर्च कर सकते है|

सूखी खांसी के लिए घरेलू नुस्खे, सूखा खांसी का घरेलू उपचार, सूखी खांसी का घरेलू उपाय, सूखी खांसी की आयुर्वेदिक दवा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!