तुलसी के फायदे और नुक्सान, best tulsi benefits in hindi

तुलसी के फायदे और नुक्सान, best tulsi benefits in hindi

तुलसी के फायदे (tulsi benefits in hindi) : भारत के अधिकतर घरों में तुलसी का पौधा (Tulsi Plant in hindi) जरूर मिलता है,हिन्दू धर्म को मानने वाले सभी लोग तुलसी की पूजा करते है| तुलसी में भरपूर औषधीय गुण होते है,तुलसी हमारे शरीर की बहुत सारी परेशानियो को दूर करने में सहायक होती है| कया आप जानते है की तुलसी (holy basil in hindi) दो प्रकार की होती है :

हरी तुलसी (राम तुलसी) – इस तुलसी के पत्तो का रंग हरा होता है और इस तुलसी को राम की तुलसी भी कहा जाता है| दूसरी होती है काली तुलसी (कृष्ण तुलसी) – इस तुलसी के पत्तो का रंग हल्का काला सा होता है इस तुलसी को कृष्ण तुलसी भी कहा जाता है| हालांकि दोनों तुलसी के गुण और रासायनिक संरचना में बहुत ज्यादा फ़र्क नहीं होता है,दोनों ही प्रकार की तुलसी सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं।

आज के समय तुलसी का उपयोग कई तरह की बीमारियों का इलाज करने के लिए भी किया जाता है| कुछ लोगो का मानना है जिस घर में तुलसी का पौधा होता है उसमे मलेरिया फैलाने वाले मच्छर नहीं आते हैं। सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते खाने से कई सारी बीमारियों से बचाव किया जा सकता है, अगर आप तुलसी और शहद का साथ में सेवन करने से तुलसी के फायदे बहुत ज्यादा बढ़ जाते हैं। चलिए आज हम अपने इस लेख में तुलसी के फायदे, सेवन करने का तरीका और उपयोग के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

Table of Contents

तुलसी क्या है? (What is holy basil in hindi)

तुलसी को एक औषधीय पौधे के रूप में भी जाना जाता है,तुलसी में अनेको तरह के विटामिन्स और खनिज प्रचुर मात्रा में होते है| तुलसी कई सारे रोगों को दूर करने और शारीरिक शक्ति को बढ़ाने में सहायक होती है| तुलसी का पौधा ज्यादा बढ़ा नहीं होता है, तुलसी के पौधे की ऊंचाई लगभग 30 से 60 सेमी तक होती है और तुलसी पर छोटे छोटे सफेद और बैगनी रंग के फूल आते है|

अन्य भाषाओं में तुलसी के नाम (Name of Tulsi in Different Languages)

तुलसी का वानस्पतिक नाम Ocimum sanctum Linn होता है, चलिए अब हम आपको बताते है की तुलसी को अन्य भाषाओं में किस नाम से जाना जाता है।

Tulsi name in:

holy basil in Tamil – Tulashi
holy basil in Telugu – Gagger chettu
holy basil in Sanskrit : सुरसा, देवदुन्दुभि, अपेतराक्षसी, सुलभा
holy basil in Hindi : तुलसी, वृन्दा
holy basil in Odia : Tulasi
holy basil in Kannad : Ared tulsi
holy basil in Gujrati : Tulasi
holy basil in Bengali : Tulasi
holy basil in Nepali : Tulasi
holy basil in Marathi : Tulas
holy basil in Malyalam : Krishantulasi
holy basil in Arabi : Dohsh

तुलसी में पाए जाने वाले पोषक तत्व :

तुलसी के पत्तो में (holy basil leaves in hindi) विटामिन्स और खनिजों का भंडार होता हैं। तुलसी के पत्ते में विटामिन सी, कैल्शियम, जिंक, आयरन और क्लोरोफिल इत्यादि मुख्य रूप से पाए जाने के साथ साथ सिट्रिक, टारटरिक एवं मैलिक एसिड भी पाए जाते है।

तुलसी के औषधीय गुण (medicinal properties of holy basil in hindi):

तुलसी में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण पेट की कई सारी समस्याओं को दूर करने के साथ साथ भूख कम लगने, गैस की समस्या, किडनी से सम्बंधित समस्याएं, वाटर रिटेंशन, दाद इत्यादि परेशानियो में भी लाभ पहुंचाती है| कुछ लोगो का मानना है की किसी इंसान को सांप या किसी भी कीड़े के काट लेने पर भी तुलसी का उपयोग (uses of tulsi in hindi) लाभकारी होता है| तुलसी के गुण देखकर आज के समय बहुत सारी आयुर्वेदिक कंपनियां अपनी दवाइयो और सौन्दर्य प्रसाधनों से जुड़े कई उत्पादों में भी तुलसी का इस्तेमाल कर रही है।

तुलसी के सेवन का तरीका (How to take holy basil in hindi) :

तुलसी (holy basil in hindi) के पौधे की जड़ से लेकर बीज तक सभी गुणकारी होते है। लेकिन तुलसी के पत्तो का सेवन सबसे ज्यादा किया जाता है| तुलसी की पत्तियों का उपयोग आप सीधे चबाकर सेवन कर सकते हैं या आप तुलसी के पत्तो को चाय में डालकर भी सेवन कर सकते हैं। आज के समय में आपको बाज़ार में आसानी तुलसी स्वरस, तुलसी चूर्ण, तुलसी कैप्सूल और टैबलेट, तुलसी क्वाथ और तुलसी अर्क मिल जाते है आप अपनी जरुरत के अनुसार ले सकते है|

तुलसी के फायदे ,श्री तुलसी के फायदे इन हिंदी (tulsi benefits in hindi)

तुलसी के बारे में आप ऊपर पड़ चुके है,तुलसी के फायदे अनगिनत होते है,चलिए अब हम आपको तुलसी के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

तनाव और चिंता दूर करने में तुलसी के फायदे इन हिंदी (tulsi benefits in hindi)

तुलसी की पत्तियों में मौजूद एंटी-डिप्रेसेंट और एंटी-एंग्जायटी गुण ऐसे काम करते है जैसे तनाव को दूर करने वाली दवाई काम करती है| आयुर्वेदिक डॉक्टर के अनुसार कोई भी इंसान अगर नियमित रूप से तुलसी के पत्ते का सेवन करने से आपको स्ट्रेस और डिप्रेशन की परेशानी में राहत मिल सकती है| नियमित रूप से सुबह और शाम को चार या पांच तुलसी के पत्ते खा लें या चाय में तुलसी के पत्ते डालकर पीने से लाभ मिलता है|

खांसी और सर्दी जुकाम में तुलसी के फायदे (tulsi benefits for cough and cold in hindi)

तुलसी की पत्ते के फायदे (holy basil in hindi) आपको सर्दी-खांसी में भी आराम दिलाते है| अगर आपको कफ की परेशानी है तो तुलसी के पत्ते और अदरक से बना हुआ काढ़ा काफी लाभकारी होता है,तुलसी का सेवन करने से पुरानी से पुरानी खांसी की समस्या भी समाप्त हो सकती है| अगर आप सर्दी खांसी की परेशानी से पीड़ित है तो एक कप पानी को उबलने रख दें,फिर इसमें तुलसी के पत्ते और थोड़ा सा अदरक कूटकर डाल दें,अच्छी तरह से उबलने दें उसके बाद गैस को बंद करके ठंडा होने दें हल्का गुनगुना रहने पर इसमें थोड़ा सा शहद डालकर सेवन करने से आपको सर्दी खांसी से छुटकारा मिल जाता है|

कंजक्टीवाइटिस या आँख आने में तुलसी के फायदे (uses of tulsi for conjunctivitis in hindi)

तुलसी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते है जो आंखों की सूजन को कम करने के साथ साथ आँख में संक्रमण को बढ़ने से भी रोकने में सहायक होते है| एक कप गर्म पानी में तुलसी के पत्ते डालकर कुछ देर भीगा रहने दें,उसके बाद थोड़ी से रुई लेकर उस पानी में भिगो लें और अपनी आँखों पर रख लें,दिन में दो से तीन बार ऐसा करने से आपको जल्द लाभ प्राप्त होगा|

डायबिटीज में तुलसी के फायदे (uses of tulsi for diabetes in hindi)

आज के समय में शुगर से पीड़ित इंसानो की संख्या काफी ज्यादा हो गई है ऐसे में इंसान घरेलु नुस्खे से शुगर की समस्या का समाधान ढूंढ़ता है| चलिए अब हम आपको मधुमेह में तुलसी के फायदे के बारे में बताते है| तुलसी में मौजूद गुण ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित रखने में मददगार होते है,रोजाना तुलसी का सेवन करने से आपके शरीर में इन्सुलिन की मात्रा संतुलित रहती है| नियमित रूप से तुलसी के 8 से 10 पत्तो का सेवन करने से आपको लाभ प्राप्त होता है|

बुखार में तुलसी के फायदे (tulsi benefits for fever in hindi)

कया आप जानते है की बुखार में भी तुलसी के फायदे देखे जा सकते है,हल्के बुखार की समस्या से आराम दिलाने में तुलसी के पत्ते सहायक होते है| सर्दी-जुकाम से होने वाले बुखार में तुलसी (holy basil in hindi) का सेवन करने से भी मरीज को आराम मिल सकता है अगर आपको सर्दी जुकाम की वजह से बुखार आया है तो तुलसी के पत्ते,थोड़ा सा अदरक और मुलेठी लेकर तीनो को पीस लें फिर इस मिश्रण का सेवन थोड़े से शहद के साथ करने से आपको आराम प्राप्त हो सकता है| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की बुखार होने पर चिकित्सक से परामर्श जरूर लें,घरेलु नुस्खे भी आजमाने से पहले वैध से परामर्श जरूर लें|

सिरदर्द में तुलसी के फायदे (uses of tulsi for headache in hindi)

अगर आपके सिर में हल्का दर्द हो रहा है तो तुलसी आपके लिए बहुत लाभकारी (holy basil benefits in hindi) साबित हो सकती है। तुलसी में मौजूद गुण सिरदर्द की परेशानी को भी कम करने में सहायक होते है,सिर दर्द की समस्या होने पर तुलसी के पत्ते डालकर चाय बनाकर सेवन कर लें,आपको सिरदर्द में लाभ प्राप्त होता है|

त्वचा और चेहरे के लिए तुलसी के फायदे (tulsi benefits for skin in hindi)

मुहांसे की समस्या का सामना किसी भी पुरुष या महिला को करना पड़ सकता है| अगर आपके चेहरे पर मुहांसों की समस्या हो रही है तो तुलसी (uses of holy basil in hindi) का उपयोग करने से आपको लाभ मिलता है| मुहांसो की समस्या से छुटकारा पाने के लिए तुलसी चूर्ण,गुलास जल और मुल्तानी मिट्टी लेकर तीनो को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगा लें| 20 से 25 मिनट बाद चेहरा ताजे पानी से धो लें,जल्द ही आपको मुहांसो की समस्या से राहत मिलती है|

इम्युनिटी क्षमता बढ़ाने में तुलसी के फायदे (tulsi benefits in hindi)

तुलसी के पत्ते के फायदे आपको शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने में भी दिख सकते है तुलसी के पत्तो में मौजूद गुण शरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ाने में मददगार होते है| नियमित रूप से तुलसी के पत्तो का सेवन करने से आपको लाभ मिलता है|

नींबू तुलसी के फायदे (lemon, tulsi benefits in hindi)

निम्बू और तुलसी का सेवन साथ में करने से आपको कुछ परेशानियो में जल्द राहत मिलती है| थोड़े से पानी में तुलसी के पत्ते और गुड़ डालकर उबलने रख दें,जब पानी अच्छी तरह उबाल जाएं तब गैस बंद करके ठंडा होने दें हल्का गर्म रहने पर उसे छान लें और उसमे नींबू का रस डालकर चाय की तरह से पी लें| यह नुस्खा पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में सहायक होने के साथ साथ सर्दी-जुकाम की परेशानी में भी आराम पहुँचाता है|

नीम गिलोय और तुलसी के फायदे (tulsi benefits in hindi)

तुलसी, नीम और गिलोय के पत्ते लेकर उन्हें पीस लें उसके बाद की पत्तियों को पीसकर रस बनाएं। इसके दो कप पानी में उबालें जब पानी एक कप रह जाए तो अच्छे से छानकर पिए। इस काढ़े को दिन में अधिकतम दो बार ले सकते हैं। वहीं एक लीटर पानी में कुटी हुई सौंठ, तुलसी की पत्तियां, गिलोय का गूदा, चिरायता, नीम और पपीते के पत्तों को डालकर उबालें। एक चौथाई रह जाने पर हटा लें। इसके अच्छे से छानकर दिन में दो बार हल्का गर्म पी सकते हैं। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता का काफी विकास होता है।

तुलसी अर्क के फायदे (tulsi benefits in hindi)

तुलसी के पत्ते जितने फायदेमंद होते है उतना ही लाभदायक तुलसी का अर्क भी फायदेमंद होता है| चलिए अब हम आपको तुलसी के अर्क के फायदों के बारे में बताते है|

  • तुलसी अर्क में मौजूद गुण आपको अपच, कब्ज, पेट फूलने और ऐंठन जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है| तुलसी के अर्क (tulsi benefits in hindi) का सेवन करने से आपको इन सभी परेशानियो में लाभ मिलता है|.
  • अगर आपको उल्टी या मतली जैसी समस्या हो रही है तो थोड़ा सा तुलसी का अर्क का सेवन करने से आप बहुत जल्द लाभ प्राप्त होता है| अगर तुलसी का अर्क (tulsi benefits in hindi) देने से आपको लाभ नहीं मिलता है तो लापरवाही ना करें तुरंत डॉक्टर से परामर्श लें|
  • तुलसी अर्क में मौजूद गुण जुखाम के साथ साथ इन्फ्लुएंजा और काली खांसी की परेशानी को दूर करने में सहायक (तुलसी के फायदे – tulsi benefits in hindi) होता है|
  • अस्थमा,ब्रोंकाइटिस,साइनस और श्वसन से सम्बंधित परेशानियो में भी तुलसी अर्क लाभकारी साबित हो सकता है|
  • तुलसी अर्क का सेवन करने से आपको सिरदर्द, मानसिक थकान, उदासी, तनाव और अवसाद इत्यादि परेशानियो में भी लाभ मिलता है|
  • अगर आप बालों से सम्बंधित परेशानी जैसे रुसी, सूखे और बेजान बाल और बालो में खुजली की समस्या से पीड़ित है तो थोड़े से नारियल के तेल में तुलसी अर्क डालकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर बालो में लगाने से जल्द आपके बालो की समस्या दूर हो जाती है|
  • अगर आप किल-मुंहासों की समस्या का सामना कर रहे है तो थोड़े से तुलसी अर्क में थोड़ा सा गुलाबजल, थोड़ा सा चन्दन पाउडर और थोड़ा सा नींबू का रस डालकर सब चीजों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें| अब इस पेस्ट को चेहरे और मुहांसो पर लगा लें,जल्द ही आपको मुहांसो से छुटकारा (tulsi benefits in hindi) मिल जाएगा|

तुलसी अर्क का नुकसान – Tulsi Ark Ke Nuksan in Hindi

जिन इंसान को कम रक्तचाप या लौ ब्लड प्रेशर की समस्या है उन्हें तुलसी अर्क का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए|
ऐसी महिलाएं जो गर्भवती है या स्तनपान कराती है उन्हें भी तुलसी अर्क का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए|
अगर आपकी किसी भी प्रकार की सर्जरी हुई है तो आपको तुलसी अर्क नहीं करना चाहिए और अगर इस्तेमाल करना है तो पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें|

सुबह खाली पेट तुलसी खाने के फायदे (tulsi benefits in hindi)

अगर आप सुबह उठकर सबसे पहले या खाली पेट तुलसी का सेवन करते है तो आपको तुलसी के फायदे (tulsi benefits in hindi) इतने होते है जितने आप सोच भी नहीं सकते है|

  • तनाव से मुक्त करने में सहायक
  • पाचन तंत्र बेहतर होता है
  • ब्‍लड शुगर लेवल संतुलित करती है
  • सर्दी-जुकाम से बचाव करने सहायक
  • सासों की बदबू दूर करती हैं
  • शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाती है
  • त्वचा में निखार लाती है.
  • वजन कम करने में मददगार

तुलसी के नुकसान और सेवन से जुड़ी सावधानियां (tulsi side effects and precautions in hindi)

हम सभी जानते है तुलसी के फायदे (tulsi ke fayde) बहुत ज्यादा है लेकिन किसी भी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी के फायदे होते है तो उसके कुछ नुक्सान भी होते है| किसी भी जड़ी बूटी के नुक्सान उसका गलत तरीके से सेवन करने या अधिक मात्रा में सेवन करने की वजह से होते है| तुलसी का सेवन अधिक मात्रा में करने पर आपको तुलसी के नुकसान (holy basil side effects in hindi) का सामना करना पड़ सकता है,चलिए अब हम आपको तुलसी के नुक्सान के बारे में जानकारी देते है|

  • कई बार कुछ ऐसे लोग तुलसी (holy basil in hindi) का सेवन कर लेते है जिन्हे कम शुगर की परेशानी होती है|
  • तुलसी हमारे शरीर में मौजूद शुगर के लेवल को कम करती है ऐसे में वो इंसान जिसकी शुगर का लेवल कम हो वो तुलसी का सेवन करता है तो उसे हानिकारक प्रभाव देखने को मिल सकते है,इसीलिए कम शुगर वाले मरीजों को चिकित्सक की सलाह से तुलसी का सेवन करना चाहिए|
  • तुलसी के फायदे (tulsi ke fayde) तभी होते है जब आप उसका सेवन सीमित मात्रा में या चिकित्सक के परामर्श के अनुसार सेवन करते है| तुलसी की तासीर गर्म होने की वजह से कई बार अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में तीव्र जलन की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है| इसीलिए हमेशा सिमित मात्रा में ही सेवन करें और तुलसी के फायदे का पूर्ण लाभ लें|
  • ऐसी महिला जो गर्भ से है उन्हें तुलसी का सेवन नहीं करना चाहिए और अगर आपको तुलसी (tulsi in hindi) का सेवन करना है तो सबसे पहले स्त्री चिकित्सक से परामर्श लें और डॉक्टर के द्वारा बताई गई मात्रा में ही सेवन करें| अपनी मर्जी से कभी तुलसी का सेवन ना करें क्योंकि कई बार तुलसी का सेवन करने से गर्भाशय में सिकुड़न की समस्या भी हो सकती है|

तुलसी के पत्ते क्यों नहीं खाना चाहिए या तुलसी के पत्ते को चबाकर नहीं खाना चाहिए ?

शायद बहुत कम लोग जानते है की तुलसी के पत्तो में लौह तत्व और पारा होने की वजह से यह हमारे दांतों के लिए नुकसानदायक हो सकता है| इसलिए तुलसी के पत्ते को चबाकर खाने को मन किया जाता है| तुलसी के पत्ते को आप बिना चबाएं या घोलकर पी सकते है|

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख तुलसी के फायदे (tulsi benefits in hindi) पसंद आया होगा, लेकिन किसी भी जड़ी बूटी का सेवन उचित मात्रा में लेना बहुत जरुरी होता है| तुलसी के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए सही समय और सिमित मात्रा में सेवन करें| अगर आपको हमारा लेख तुलसी के फायदे पसंद नहीं आया है तो आप गूगल या बिंग पर तुलसी के फायदे लिख कर सर्च कर सकते है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!